ChaibasaJamshedpurJharkhandSaraikela

Adityapur Industrial Area : उद्यमियों ने उठाया सवाल, जिंको इंडिया की जमीन पर कैसे चल रही थी पीटीपीसी कंपनी, शुक्रवार को जियाडा के समक्ष विरोध-प्रदर्शन

Jamshedpur : आदित्यपुर इंडस्ट्रियल एरिया के थर्ड फेज स्थित मेसर्स जिंको इंडिया कंपनी की जमीन पर पीटीपीसी नामक कंपनी क्यों और कैसे चल रही थी. इस मामले में एसडीओ के आदेश के बावजूद समुचित कार्रवाई क्यों नहीं की गयी. यह सवाल जिंको इंडिया के प्रोपराइटर सिद्धी सिंह समेत क्षेत्र के अन्य उद्यमियों ने उठाया है. साथ ही उन्होंने सिंहभूम इंडस्ट्रीजएसोसिएशन के बैनर तले शुक्रवार को आदित्यपुर स्थित जियाडा कायार्लय के समक्ष शुक्रवार को विरोध-प्रदर्शन करने की घोषणा की है. इसमें उद्यमी संगठन लघु उद्योग भारती के अलावा एसिया के लोग भी शामिल होंगे. इस पूरे मामले में उद्यमियों के निशाने पर जियाडा और बिजली विभाग है.

यह है मामला
इस मामले में जिंको इंडिया के प्रोपराइटर सिद्धी सिंह ने बताया कि वर्षों पहले उनकी कंपनी को जमीन आवंटित किया गया था. हालांकि बैंक लोन को लेकर उनके समक्ष कई कठिनाईयां सामने आई थी. उनकी काफी कुछ पंजाब नेशनल बैंक के आदित्यपुर शाखा में बंधक पड़ा. हालांकि अब वे लोन चुकाने की दिशा में आगे बढ़ चुके हैं. इस बीच जिंको इंडिया कंपनी की जमीन पर अवैध रुप से पीटीपीसी नामक कंपनी चलने का मामला उजागर हुआ. इसे लेकर एसडीओ ऑफिस से कंपनी को सील करने का आर्डर आया. जियाडा ने इसके लिए दंडाधिकारी की नियुक्त करक कंपनी को सील करने की कार्रवाई की. बुधवार को कार्रवाई भी की गई. उसके बाद अजीबो-गरीब खेल खेला गया. एक तो कंपनी को सील नहीं किया गया, वहीं बिजली विभाग ने कंपनी का बिजली काटने के कुछ घंटे बाद ही रात दो बजे के बाद अनाधिकृत रुप अस्थाई रुप से फिर से कंपनी को बिजली कनेक्शन दे दिया. उद्यमियों का कहना है कि इस पूरे मामले में सरकार से सिंगल विंडो सिस्टम की धज्जियां उड़ायी गई है. साथ ही बिजली विभाग के अधिकारियों ने सरकार को राजस्व की भारी क्षति पहुंचायी है. इसका हर हाल में जोरदार विरोध किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- Jamshedpur Corona Update: जमशेदपुर में तेज हुई कोरोना संक्रमण की रफ्तार, फ‍िर म‍िले 50 नये पॉज‍िट‍िव

Related Articles

Back to top button