न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

19 वर्षीय युवती के अंधेरे जीवन में फिर से आयेगी रोशनी, रिम्स में हुआ सफल कॉर्निया ट्रांसप्लांट

30

Ranchi : रिम्स में 19 वर्षीय एक युवती का सफल कॉर्निया ट्रांसप्लांट किया गया. नेत्र विभाग के डॉक्टरों की देखरेख में गिरिडीह की रहनेवाली इस युवती का कॉर्निया ट्रांसप्लांट किया गया. ट्रांसप्लांट होने से यह युवती अब अपनी दोनों आंखों से दुनिया देख सकेगी. यह दूसरी बार है, जब रिम्स में कॉर्निया ट्रांसप्लांट किया गया है. फिलहाल उस युवती को किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बचाने के लिए डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है. दो दिन बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया जायेगा. डॉक्टरों ने बताया कि अभी थोड़ी परेशानी रहेगी, धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हो जायेगी. लगभग 15 से 20 दिन के बाद स्थिति देखने के लिए मरीज को फिर से रिम्स बुलाकर उसकी आंखों की जांच की जायेगी.

बचपन में डैमेज हुआ था कॉर्निया

रिम्स के नेत्र विभाग के एचओडी डॉ. वीबी सिन्हा ने बताया कि लड़की का कॉर्निया बचपन में खेलते हुए डैमेज हो गया था. शुक्रवार को कॉर्निया मिलने के बाद लड़की को रिम्स बुलाया गया. एचओडी और नेत्र अधिकोष के नोडल ऑफिसर डॉ. राजीव कुमार गुप्ता, डॉ सुनील कुमार की देखरेख में युवती का कॉर्निया ट्रांसप्लांट किया गया. इनके अलावा आई बैंक के अधिकारी, जूनियर डॉक्टर एवं नर्स ने भी इसमें सहयोग किया.

डॉक्टर दंपती ने स्वेच्छा से किया अपने मृत बेटे का नेत्रदान

डॉ एके दास एवं डॉ सीमा शर्मा के इकलौता पुत्र दीपांकर कुमार दास मेडिका में भर्ती थे. जमशेदपुर से रांची आने के क्रम में दुर्घटना का शिकार हुए थे और इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी. इसके बाद उन्होंने रिम्स के आई बैंक को दीपांकर की आंखें डोनेट कर दी. वे अपने पुत्र के अन्य अंग भी दान करना चाहते थे, लेकिन सुविधा के अभाव में सिर्फ नेत्रदान किया जा सका.

रिम्स में निःशुल्क होता है कॉर्निया ट्रांसप्लांट

नेत्र विभाग के नोडल ऑॅफिसर डॉ राजीव गुप्ता ने बताया कि प्राइवेट में कॉर्निया ट्रांसप्लांट करवाने का चार्ज 40 से 50 हजार रुपये है, जबकि रिम्स में यह ट्रांसप्लांट निःशुल्क किया जाता है. जरूरत है इसके प्रति लोगों में जागरूकता की. किसी के नेत्रदान से कोई अन्य व्यक्ति दुनिया देख सकेगा. यह एक परोपकार के समान ही है. अगर किसी के जीवन में अंधेरा दूर कर रोशनी लायी जा सकती है, तो हम सभी को इसके लिए आगे आना चाहिए.

इसे भी पढ़ें- छह माह से मृृृत पिता को जिंदा करने के लिए बेटा कर रहा था तंत्र-मंत्र, घर के अंदर छिपा रखा था शव

इसे भी पढ़ें- भाजपा सांसद रवींद्र पांडेय पर महिला ने लगाया शारीरिक शोषण का आरोप, कतरास थाना में शिकायत दर्ज

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: