न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आंधी-पानी के कारण फिर 186 मेगावाट बिजली सरेंडर, राजधानी सहित कई जिलों में बिजली आपूर्ति बाधित

सुबह से शाम तक में सेंट्रल सेक्टर से कम ली गई बिजली, टीवीएनएल की एक यूनिट ठप

240

Ranchi: आंधी-पानी के कारण शुक्रवार को भी प्रदेश की बिजली व्यवस्था चरमराई रही. राजधानी सहित कई जिलों में तीन से चार घंटे बिजली आपूर्ति बाधित रही. आंधी पानी के कारण मांग से कम बिजली ली गई. बिजली आपूर्ति बाधित होने के कारण 186 मेगावाट बिजली सरेंडर भी करना पड़ा. सिस्टम दुरुस्त नहीं होने के कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है.

इसे भी पढ़ें – मामला अटल वेंडर मार्केट में दुकान आवंटन काः पत्रकारों ही नहीं मंत्री, अफसरों से लेकर जनता तक को बेवकूफ बनाया

सुबह में 863 मेगावाट थी मांग, शाम में घट कर 774 मेगावाट हो गयी डिमांड

सुबह नौ बजे से दोपहर तक प्रदेश में 863 मेगावाट की डिमांड थी. जो शाम में पांच बजे के बाद घट कर 774 मेगावाट ही रह गई. शाम में सेंट्रल सेक्टर से कम बिजली ली गई. सुबह से दोपहर तक सेंट्रल सेक्टर से 424 मेगावाट बिजली ली गई थी, जबकि शाम पांच बजे के बाद सेंट्रल सेक्टर से 387 मेगावाट ही बिजली ली गई.

इसे भी पढ़ें – ट्रेन में लुटेरों से भिड़ी महिला, तो चलती ट्रेन से बाहर फेंका

टीवीएनएल की एक यूनिट ठप

लगातार दो दिन से टीवीएनएल की एक यूनिट से उत्पादन ठप है. वहीं सिकिदिरी से भी उत्पादन नहीं हो रहा है. सामान्य दिनों में पूरे प्रदेश में 1050 से 1100 मेगावाट बिजली की मांग रहती है. लेकिन आंधी पानी के कारण शुक्रवार को सिर्फ 774 मेगावाट ही मांग रही. इसके पीछे वजह यह है कि आंधी-पानी के समय बिजली आपूर्ति बाधित रहती है. सिस्टम दुरुस्त नहीं रहने के कारण बिजली काट दी जाती है.

Related Posts

100 रुपये में #IAS बनाता है #UPSC, #Jharkhand में क्लर्क बनाने के लिए वसूले जा रहे एक हजार

झारखंड में बनना है क्लर्क तो आइएएस की परीक्षा से 10 गुणा ज्यादा देनी होगी परीक्षा फीस.

इसे भी पढ़ें –  हिंदुत्व के खिलाफ बोलना खतरनाक, प्रेस की आजादी की  रैंकिंग में पिछड़ा  भारत

क्या रही प्रदेश में पावर की स्थिति

  • टीवीएनएल एक यूनिट: 180 मेगावाट
  • सिकिदिरी: 00
  • सीपीपी: 03 मेगावाट
  • इंलैंड पावर: 52 मेगावाट
  • सेंट्रल एलोकेशन: 387 मेगावाट
  • आधुनिक: 186 मेगावाट
  • एसइआर: 38 मेगावाट
  • आइइएक्स: 40 मेगावाट

इसे भी पढ़ें – शहीद हेमंत करकरे को देशद्रोही बता चौतरफा घिरीं प्रज्ञा ठाकुर, IPS एसोसिएशन ने कहा-बयान निंदनीय, शहीदों का सम्मान कीजिए

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: