न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नाबालिग दिव्यांग लड़की के साथ दुष्कर्म के 18 आरोपियों को वकीलों ने महिला कोर्ट में जम कर पीटा

चेन्नई में मंगलवार को 12 वर्षीय लड़की से दुष्कर्म करने के18 आरोपियों की जम कर पिटाई की गयी

412

Chennai : चेन्नई में मंगलवार को 12 वर्षीय लड़की से दुष्कर्म करने के18 आरोपियों की जम कर पिटाई की गयी. खबरों के अनुसार लगभग 50 वकीलों के एक दल ने कोर्ट परिसर के अंदर इन लोगों को जमकर पीटा.  बता दें कि सुनने में असमर्थ एक लड़की का लगातार कई महीनों तक यौन उत्पीड़न करने के मामले में ये सभी गिरफ्तार किये गये हैं. मंगलवार को जब इन आरोपियों को सुनवाई के लिए कोर्ट लाया गया, उसी दौरान वकीलों ने इन आरोपियों की जमकर कूट दिया. इस संबंध में वकीलों के एक संगठन ने कहा है कि आरोपियों का केस कोई भी वकील नहीं लड़ेगा. पुलिस के अनुसार सिक्यॉरिटी गार्ड, लिफ्ट ऑपरेटर और प्लंबर समेत 18 लोगों ने बच्ची के साथ लगभग सात माह तक दुष्कर्म किया था. पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

इसे भी पढ़ें- 24 हाईकोर्ट में जजों के 406 पद खाली! उम्र सीमा बढ़ाने पर सरकार कर रही विचार

बच्ची का दुष्कर्म करने के साथ उसकी वीडियो रिकॉर्डिंग भी की थी

मामला तब उजागर हुआ, जब सातवीं में पढऩे वाली  नाबालिग दिव्यांग छात्रा ने अपनी बड़ी बहन के सामने घटना का जिक्र किया. इसके बाद बाद उनके अभिभावकों ने सोमवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत के अनुसार आरोपी इंजेक्शन और नशे की दवा खाने-पीने की चीजों में मिलाकर बच्ची को बेहोश कर देते थे. आरोपियों ने बच्ची का दुष्कर्म करने के साथ उसकी वीडियो रिकॉर्डिंग भी की थी. पुलिस का दावा है कि यौन उत्पीड़न का यह मामला सात महीनों से ज्यादा दिनों तक चलता रहा.

इसे भी पढ़ें- झारखंड लूटखंड और खूनखंड बन चुका है : वृंदा करात

18 आरोपियों को महिला कोर्ट में रिमांड के लिए पेश किया गया था

silk_park

मंगलवार को सभी 18 आरोपियों को महिला कोर्ट में रिमांड के लिए पेश किया गया था. इस  प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई गयी. इन लोगों के साथ पुलिस भी थी. इसी दौरान लगभग 50 वकीलों ने आरोपियों को पीटना शुरू कर दिया. सीढ़ी से उतर रहे आरोपियों पर वकीलों ने हमला कर दिया और उनको बुरी तरह पीटा. वकीलों ने आरोपियों को गिराकर लात-घूंसों से उन्हें कोर्ट परिसर के अंदर ही पीटा.

इसे भी पढ़ें- मॉनसून सत्र शुरू, मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव स्पीकर ने किया मंजूर

मद्रास हाई कोर्ट ऐडवोकेट्स एसोसिएशन आरोपियों का केस नहीं लड़ेगा

मामला बढऩे के बाद जज धर्मन, मद्रास हाई कोर्ट ऐडवोकेट्स एसोसिएशन (एमएचएए) के अध्यक्ष मोहनकृष्णन के साथ-साथ वकील कन्नदासन और पुलिस जॉइंट कमिश्नर अनबू और अडिशनल कमिश्नर जयराम ने काफी देर तक वकीलों को समझाने की कोशिश की कि आरोपियों को सुरक्षित जाने दिया जाये. मोहनकृष्णन ने बताया कि  उनका संगठन इन आरोपियों का केस नहीं लड़ेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: