न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

17वीं लोकसभा : पहले दिन पीएम मोदी ने कहा, विपक्ष लोकतंत्र की अनिवार्य शर्त,  नंबरों की चिंता छोड़ देश सेवा में योगदान दें

पीएम मोदी ने विपक्षी दलों से सहयोग की मांग करते हुए कहा कि विपक्षी दलों को नंबरों की चिंता छोड़कर अपना योगदान देना चाहिए.

28

NewDelhi : संसद के मानसून सत्र से पहले पीएम मोदी ने कहा कि आज नया सत्र शुरू हो रहा है. इस सत्र के साथ नयी आशाएं तथा स्वप्न जुड़े हैं. उन्होंने विपक्ष को लोकतंत्र की अनिवार्य शर्त बताते हुए कहा कि सामर्थ्यवान विपक्ष से लोकतंत्र मजबूत होता है. पीएम मोदी ने विपक्षी दलों से सहयोग की मांग करते हुए कहा कि विपक्षी दलों को नंबरों की चिंता छोड़कर अपना योगदान देना चाहिए.  उनकी आवाज और चिंताएं सरकार के लिए उतनी ही महत्वपूर्ण हैं.

mi banner add

कहा कि स्वतंत्रता के बाद से इस बार के लोकसभा चुनाव ने सबसे ज्यादा महिला मतदाता तथा महिला सांसद देखे हैं.  कई दशकों के बाद किसी सरकार ने दूसरे कार्यकाल के लिए स्पष्ट बहुमत हासिल किया है. लोगों ने हमें देश की सेवा करने का फिर अवसर दिया है. मैं सभी पार्टियों से अनुरोध करता हूं कि उन निर्णयों का समर्थन करें, जो जनहित में हों.

इसे भी पढ़ें –  सिर्फ दो-दो डॉक्टर्स से मिलेंगी ममता बनर्जी, मुलाकात को रिकॉर्ड करने की रखी गयी मांग

पक्ष-विपक्ष से ज्यादा निष्पक्ष की भावना महत्व रखती है

पीएम ने कहा, चुनाव के बाद नई लोकसभा के गठन के बाद आज पहला सदन शुरू हो रहा है. नये साथियों से परिचय का एक अवसर है. नये सपने भी जुड़ते हैं. भारतीय लोकतंत्र की विशेषताओं और ताकत क्या है, हर चुनाव में हम उसे अनुभव करते हैं.

आजादी के बाद सबसे ज्यादा मतदान, सबसे ज्यादा महिलाओं को चुना जाना, महिला मतदाताओं का मतदान करना अनेक विशेषताओँ से भरा हुआ यह चुनाव रहा. कई दशकों के बाद एक सरकार को पूर्ण बहुमत के साथ जनता ने दोबारा सेवना करने का असवर दिया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘पक्ष-विपक्ष से ज्यादा निष्पक्ष की भावना महत्व रखती है.

पीएम ने कहा, हम आने वाले पांच सालों में के लिए इस सदन की गरिमा को ऊपर उठाने का प्रयास करेंगे. देश की जनता ने सबका साथ, सबका विकास का समर्थन किया है. विपक्ष का सामर्थ्यवान होना लोकतंत्र के लिए महत्वपूर्ण है. उनकी भावना हमारे लिए अहम है. मुझे उम्मीद है कि हम विपक्ष से मिलकर निष्पक्ष तरीके से काम करेंगे.

इसे भी पढ़ें – समय पर ऑफिस नहीं पहुंचते हैं झारखंड के सीनियर आइपीएस

तीन तलाक जैसे  महत्वपूर्ण विधेयक  सरकार के एजेंडे में

बता दें कि इस सत्र में केंद्रीय बजट पारित किया जायेगा और तीन तलाक जैसे अन्य महत्वपूर्ण विधेयक इसमें सरकार के एजेंडे में प्रमुख रहेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नयी  लोकसभा के पहले सत्र से एक दिन पहले रविवार को सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता की. उन्होंने 19 जून को सभी दलों के प्रमुखों को एक राष्ट्र, एक चुनाव के मुद्दे पर तथा अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा के लिए आमंत्रित किया है. लोकसभा में इस बार कई नये चेहरे होने की बात को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि निचले सदन का पहला सत्र नये उत्साह और सोच के साथ शुरू होना चाहिए.

सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस ने सरकार के साथ बेरोजगारी, किसानों की समस्या, सूखा और प्रेस की आजादी जैसे विषय उठाये. विपक्षी दल ने जम्मू कश्मीर में जल्द विधानसभा चुनाव कराने की मांग की. भाजपा ने भी रविवार को संसदीय दल की बैठक की. इसके माध्यम से प्रधानमंत्री ने सभी भारतीयों को आश्वासन दिया कि उनकी सरकार ऐसे विधेयकों को लाने में अग्रणी रहेगी जो सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वासकी भावना को परिलक्षित करें.

मीडिया से सहयोग की अपील  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रेस को फी सकारात्मक भूमिका निभाने की सलाह दी,  कहा कि कुछ विपक्षी सांसद बहस को बहुत प्राणवान बनाते हैं.  सांसद बहुत अच्छे विचार रखते हैं, लेकिन ज्यादातर वो रचनात्मक होते हैं और टीआरपी का मेल नहीं होता.

लेकिन टीआरपी से ऊपर बहुत तर्कवत कोई सदन में सरकार की आलोचना भी करता है तो उससे हमें बल मिलेगा.  पांच साल तक इस भावना को पूरा करने में आप भी (प्रेस) सकारात्मक भूमिका निभा सकते हैं. कहा कि  अगर सकारात्मकता को बल देंगे तो सकारात्मकता की दिशा में जाने में बल मिलेगा.

मोदी ने सभी नवनिर्वाचित सांसदों को डिनर पर बुलाया

इससे पहले आज संसद का पहला सत्र शुरू हुआ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसद पद की शपथ ली. नये सांसदों को भी शपथ दिलाई गयी.  इससे पहने वीरेंद्र कुमार ने प्रोटेम स्पीकर के तौर पर शपथ ली.  इस बीच पीएम मोदी ने सभी नवनिर्वाचित सांसदों को डिनर पर बुलाया है. केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि 20 जून को दिल्ली के अशोका होटल में डिनर का आयोजन किया गया है. 17 जून से शुरू होकर ये सत्र 26 जुलाई तक जारी रहेगा. 5 जुलाई को बजट पेश किया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: