न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोकसभा 2019: बैलट पेपर से मतदान कराने की मांग को लेकर 17 दलों के नेता चुनाव आयोग से मिलेंगे

अगर आम सहमति है तो बैलेट पेपर से चुनाव में पार्टी को आपत्ति नहीं- बीजेपी

652

New Delhi: इवीएम को लेकर विपक्षी दलों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा. अब तो एनडीए की सहयोगी शिवसेना भी इवीएम के खिलाफ उतर आई है. विपक्षी दल 2019 में एक ओर बीजेपी को हराने के लिए महागठबंधन का खाका खिंच रहे हैं, वहीं दूसरी ओर अगला लोकसभा चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग भी जोर पकड़ रही है. इसी सिलसिले में विपक्षी दलों का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिलेगा.

इसे भी पढ़ें-टीएमसी के छह सांसद व दो विधायक सिलचर एयरपोर्ट पर हिरासत में लिये गये

बैलेट पेपर से चुनाव क्यों चाहता है विपक्ष ?

विपक्ष का आरोप है कि बीजेपी इवीएम में गड़बड़ी कर चुनाव जीत हासिल करती है. ये जनता के जनादेश का अपमान है. तृणमूल के नेता डेरक-ओ-ब्रायन ने कहा कि यूरोप के विकसित देशों, जैसे ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस में अगर बैलेट पेपर से चुनाव हो सकते हैं तो फिर भारत में क्यों नहीं. चुनाव को लेकर जनता के मन में किसी तरह की दुविधा नहीं होनी चाहिए. चुनाव के प्रति भारत के लोगों के मन में जो विश्वास है, उसे बहाल रखने के लिए जरुरी है कि चुनाव निष्पक्ष और पारदर्शी हों.

इसे भी पढ़ें- लोकसभा में एससी-एसटी ऐक्ट पर नोकझोंक, कांगेस ने अध्यादेश लाने की मांग की

विपक्ष के प्रतिनिधिमंडल में कौन-कौन दल होंगे शामिल ?

विपक्षी दलों के प्रतिनिधिमंडल में तृणमूल कांग्रेस के अलावा आरजेडी, बीएसपी, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, सीपीएम, सीपीआई, तेलंगाना राष्ट्र समिति, तेलगू देशम पार्टी, ओवैसी बंधुओं की एमआईएम शामिल रहेंगे. कांग्रेस इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल होगी या नहीं इस बारे में अभी पता नहीं चल सका है. शिवसेना का कहना है कि वो बैलेट पेपर से चुनाव चाहते हैं, लेकिन विपक्षी दलों के प्रतिनिधिमंडल में शामिल नहीं होंगे. 17 दलों का प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से कब मिलेगा, इसकी तारीख का चुनाव आयोग की इजाजत के बाद खुलासा कर दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें- इंटक को लेकर सुप्रीम कोर्ट के दो फैसले राजेंद्र सिंह के पक्ष में, कोल इंडिया में नयी राजनीति की शुरुआत

बीजेपी को भी बैलेट पेपर से चुनाव पर आपत्ति नहीं

बीजेपी के प्रवक्ता राम माधव ने 18 मार्च को कहा था कि अगर सभी दल राजी हों तो बैलेट पेपर से चुनाव कराने में बीजेपी को कोई आपत्ति नहीं है. बीजेपी का कहना है कि यदि सभी दलों के बीच सहमति बनती है तो भविष्य में ईवीएम की बजाय बैलट पेपर से चुनाव कराए जाने पर विचार किया जा सकता है. राम माधव ने कहा कि बैलट पेपर की बजाय ईवीएम से चुनाव कराए जाने का फैसला बड़े स्तर पर सहमति बनने के बाद ही लिया गया था. अब अगर राजनीतिक दल राजी हों तो चुनाव बैलेट पेपर से करवाने में बीजेपी को आपत्ति नहीं है.

बैलेट पेपर से चुनाव कराने पर बीजेपी को भी आपत्ति नहीं
बैलेट पेपर से चुनाव कराने पर बीजेपी को भी आपत्ति नहीं

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: