न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विधायक विनोद सिंह विधायक फंड से बाहर फंसे श्रमिकों की आर्थिक मदद करेंगे, कहा- दिल्ली, मुंबई और दूसरे शहरों में प्रवासी कंट्रोल रूम खोले सरकार

1,817

Ranchi :  बगोदर विधायक विनोद सिंह ने झारखंड सरकार को पत्र लिखकर अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों के खाते में आर्थिक सहायता भेजने का प्रस्ताव दिया है. कोरोना महामारी और इसके चलते हुए लॉकडाउन के कारण झारखंड के कई श्रमिक दूसरे राज्यों में फंस गये हैं. उनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है.

खासकर दिहाड़ी मजदूरों के मामले में ज्यादा समस्या हो गयी है. उनके समक्ष पैसे का भी अभाव हो गया है. जिससे उनके सामने भूख की चिंता खड़ी होने लगी है. ऐसे में विनोद सिंह ने अपने विधायक फंड से उन्हें तत्काल आर्थिक सहायता भेजने का प्रस्ताव दिया है.

साथ ही अलग-अलग राज्यों में फंसे मजदूरों के मामले में राज्य सरकारों से समन्वय बनाकर ठोस पहल करने की अपील की है.

इसे भी पढ़ेंः #LockDown21 : दूरदर्शन फिर से प्रसारित कर सकता है रामायण-महाभारत, सोशल मीडिया में उठी है मांग

कोरोना विपदा ने श्रमिकों के लिए खड़ी कर दी है मुसीबत

विनोद सिंह ने उप विकास आयुक्त, गिरिडीह को पत्र लिखकर कहा है कि कोरोना आपदा ने आर्थिक विपदा ला दी है. बगोदर विधानसभा के हजारों मजदूर राज्य से बाहर महानगरों में लॉक हो चुके हैं. संबंधित राज्य सरकार और प्रशासन के लिए उनकी मदद करने को उन तक पहुंच पाना आसान नहीं है.

राहत के लिए आवश्यक खाद्य सामग्री नहीं मिलने से उनमें भय समाने लगा है. वे स्वयं भी परेशान हैं. और बगोदर में रह रहे उनके परिजन भी उनके लिए चिंतित हैं. ऐसे में नियमों को शिथिल करते हुए विधायक कोष की राशि प्रवासी मजदूरों के खाते में भेजे जाने में पहल हो. ऐसा होने पर वांछित मजदूरों का नाम और खाता संख्या संबंधी जानकारी वे दे सकेंगे.

प्रवासी झारखंडी कंट्रोल सेंट्रल

का भी दिया है प्रस्ताव

विनोद सिंह ने सरकार से कहा है कि वे अपने विधायक फंड से दिल्ली, चेन्नई, मुंबई, बंगलौर, हैदराबाद, सूरत में प्रवासी झारखंडी कंट्रोल रूम बनाने के लिए भी मदद देने को तैयार हैं. राज्य सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे लोगों के लिए झारखंड में कंट्रोल रूम बनाया है. यह एक अच्छी पहल है पर जिन राज्यों में श्रमिक फंसे हैं, उनके लिए उसी राज्य में प्रवासी झारखंडी कंट्रोल रूम की सुविधा हो ताकि आने वाले फोन के आधार पर जल्द से जल्द जरूरतमंद श्रमिकों और लोगों तक मदद पहुंचाई जा सके.

हजारीबाग में बने तीन कोरोना जांच सेंटर 

गौरतलब है कि हजारीबाग शहर के तीन अस्पताल को कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के लिए सेंटर बनाया गया है. जिसमें आरोग्यम अस्पताल, हजारीबाग डेंटल कॉलेज हजारीबाग और पगमिल स्थित लाइफ केयर अस्पताल शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंः #ChineseVirus19 : महाभारत की बात तो ठीक, पर IMA कह रहा कि लड़ने के लिए सुरक्षा किट है ही नहीं, कैसे लडेंगे कोरोना से

न्यूज विंग की अपील – देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like