न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पाकुड़ : 16 वर्षीय युवक की हत्या, जांच में जुटी पुलिस

eidbanner
147

Pakur :  जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मेनकापाड़ा गांव में एक 16 वर्षीय युवक की निर्मम हत्या कर दी गयी है. हत्‍या के बाद शव को गांव के समीप खेत में फेंक दिया. इधर हत्या की खबर सुनते ही मुफ्फसिल थाना प्रभारी बाबू बंशी साव जवानों के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन में जुट गयी है.

इसे भी पढ़ें : साइबर अपराधी ने SBI कर्मचारी बता मांगा क्रेडिट कार्ड का नंबर, खाते से निकाल लिये 60 हजार

मजदूरी देने के नाम पर हाउस नगर ले जाया गया था

मिली जानकारी के अनुसार मेनकापाड़ा के हबीबुर्रहमान शेख 16 वर्ष युवक पिछले शुक्रवार की शाम सात बजे से गायब था. परिजनों ने काफी खोजबीन किया, परंतु कहीं भी पता नहीं चल पाया. हबीबुर्रहमान के पिता नेफारुल शेख ने बताया की पश्चिम बंगाल के हाउस नगर गांव के काजी शेख ने शुक्रवार की शाम मजदूरी देने के नाम पर हाउस नगर ले गया था. उसके बाद से मेरा पुत्र गायब था.

इसे भी पढ़ें एक साल बीत जाने के बाद भी अफसाना हत्याकांड का खुलासा नहीं कर पायी पुलिस

शरीर पर जख्‍म के नहीं हैं निशान

रविवार की सुबह जब ग्रामीण शौच के लिए गये तो देखा की हबीबुर का शव खेत में पड़ा हुआ है. उनके कान और मुंह से खून देखा गया. शरीर पर जख्म के निशान कहीं भी नहीं देखा गया. जब परिजनों ने देखा के हबीबुर्रहमान का शव खेत में पड़ा हुआ है, तो इसकी सूचना ग्रामीणों ने थाना को दिया. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मेनकापाड़ा गांव पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले लिया है.

जल्‍द गिरफ्तार होंगे हत्‍यारे

इधर इस मामले में थाना प्रभारी ने बताया के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा दिया गया है. हत्या किन कारणों से हुई है, इसकी जांच की जा रही है. थानेदार ने बताया मृतक के पिता के अनुसार हबीबुर को मजदूरी दिलाने के नाम पर ले गया था और हत्‍या कर दी गयी है. हालांकि और भी कारण हो सकते हैं, यह जांच का विषय है. पुलिस जल्द हत्‍यारे तक पहुंच जायेगी.

इसे भी पढ़ें : पलामू: प्रमंडलीय सदर अस्पताल में चिकित्सक की लापरवाही, प्रसूता व बच्चे की मौत, स्वास्थ्य मंत्री ने…

कहीं प्रेम प्रसंग में हबीबुर की हत्‍या तो नहीं की गयी?

मेनकापाडा गांव में 16 वर्षीय हबीबुर रहमान की हत्‍या के कारणों का अब तक पता नहीं चल पाया है. ग्रामीण सूत्रों की माने तो हबीबुर रहमान का गांव के एक दोस्त की बहन से प्रेम प्रसंग चल रहा था. जिसकी जानकारी घर वालों को थी. दोस्त ने ही पश्चिम बंगाल के काजी शेख को यह जानकारी दी थी कि हबीबुर रहमान को किसी भी कीमत पर रास्ते से हटाना है. इसके बाद काजी ने हबीबुर को मजदूरी का रुपया देने के लिए बुलाया. हबीबुर मजदूरी का काम करता था.

इसे भी पढ़ें : तीन महीने पहले युवती ने की थी आत्‍महत्‍या, आज बरामद हुआ शव

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: