Corona_UpdatesNational

गुजरात के अस्पताल में आग लगने के बाद कोविड-19 से संक्रमित 16 मरीज सुरक्षित निकाले गये

Surat :  जिले के एक निजी अस्पताल के गहन देखभाल कक्ष (आईसीयू) में रविवार रात आग लगने के बाद कोविड-19 के 16 अत्यंत गंभीर मरीजों को बाहर निकाला गया और सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया. अधिकारियों ने बताया कि आग में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः दर्दनाक: पटना में कोरोना संक्रमित पत्नी का गला रेतकर स्टेशन मास्टर पति ने छत से कूदकर दे दी जान

advt

 

उन्होंने बताया कि सूरत के स्टेशन रोड पर स्थित बहुमंजिला इमारत के पांचवे तल पर आयूष अस्पताल में रविवार रात 11 बजकर 40 मिनट पर आग लग गई थी जिसके बाद आईसीयू में भर्ती 16 मरीजों को बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया.

 

सूरत नगरपालिका आयोग (एएमसी) के प्रभारी मुख्य अग्निशमन अधिकारी बसंत पारीक ने कहा, “आग लगने के वक्त इमारत के पांचवे तल पर स्थित अस्पताल के आईसीयू में 16 मरीज थे. दमकल विभाग की टीम ने 11 मरीजों को बाहर निकाला और शेष पांच को अस्पताल के स्टाफ ने टीम के पहुंचने से पहले ही सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया था.”

इसे भी पढ़ेंः आज से करें भारतीय नौसेना में नाविक बनने के लिए आवेदन, 5 मई है अंतिम तिथि

 

उन्होंने कहा कि आग वातानुकूलन (एसी) शॉर्ट सर्किट होने या ओवरलोड की वजह से वातानुकूलन (एसी) के फट जाने के बाद लगी. पारीक ने बताया कि अग्निशमन दल द्वारा बाहर निकाले गये 11 मरीजों में से पांच को नगर निगम के एसएमआईएमईआर अस्पताल ले जाया गया, चार को संजीवनी अस्पताल और शेष दो को आयूष अस्पताल की दूसरी मंजिलों पर ले जाया गया.

 

उन्होंने कहा कि अस्पताल के जिन बाकी पांच मरीजों को कर्मचारियों ने बचाया था, उन्हें कहां रखा गया है इसका पता लगाने की कोशिश की जा रही है. पारीक ने बताया की आग की सूचना मिलने पर दमकल की करीब 15 गाड़ियों को मौके पर भेजा गया और दो गाड़ियों की मदद से आधे घंटे में ही आग पर काबू पा लिया गया.

इसे भी पढ़ें: धनबाद से अपहृत युवती से दुष्कर्म के बाद करवा रहा था देह व्यापार, पुलिस ने छुड़ाया

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: