न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में पिछले एक महीने में हुई डेढ़ सौ से भी ज्यादा हत्याएं, गुमला का आंकड़ा सबसे अधिक

133

Gumla: झारखंड पुलिस के आंकड़ों के अनुसार पिछले एक महीने में पूरे झारखंड में 155 हत्याएं हुई. जिसमें सबसे अधिक गुमला जिले में 36 हत्याएं हुई. झारखंड के उग्रवाद प्रभावित जिला गुमला में नक्सली गतिविधियां भले ही कम हो गयी हो, लेकिन हत्या की घटनाओं में कोई कमी नहीं आयी है.

ज्यादातर हत्याओं की वजह शराब, जुआ और प्रेम प्रसंग

गुमला जिले में हाल में हुई घटनाओं पर अगर ध्यान दिया जाए तो अधिकांश घटनाएं शराब के नशे, प्रेम प्रसंग या फिर जुए की वजह से हुई है. वहीं पुलिस इन घटनाओं के बावजूद शराब कारोबार और जुआ पर अंकुश लगाने में कोई तेजी नहीं दिखा रही.

इसे भी पढ़ेंःअर्जुन मुंडा के लिए कटीली है खूंटी की राह, कई चुनौतियों से होना होगा दो-चार

लड़कियों की सुरक्षा ताक पर

गुमला जिले में लड़कियों की सुरक्षा ताक पर है. या यूं कहे कि वह सुरक्षित नहीं हैं. आए दिन उनके साथ दुष्कर्म, छेड़छाड़ जैसी घटनाएं होती रहती है. कई मामले में तो दुष्कर्म के बाद युवतियों की हत्या कर दी जाती है. ताकि आरोपी पकड़ में ना आए. कुछ मामलों का पुलिस ने खुलासा किया है तो कुछ मामले अभी भी इंसाफ के इंतजार में पड़े हैं.

हाल के दिनों में बड़ी है नक्सली गतिविधियां

जिले में नक्सली गतिविधियां कम हो गई थी. लेकिन हाल के दिनों की अगर बात की जाए तो नक्सली गतिविधियां फिर से बढ़ गई है. क्योंकि पिछले कुछ महीनों में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की कई घटनाएं सामने आयी है. कामडारा थाना क्षेत्र में पुलिस और पीएलएफआई के बीच हुए मुठभेड़ में तीन उग्रवादी मारे गए थे. गुमला से करीब 25 किमी दूर बरकनी गांव से सटे जंगल में भाकपा माओवादी व जेजेएमपी के बीच मुठभेड़ हुई थी जिसमें एक नक्सली मारा गया था. वहीं खूंटी-सिमडेगा मुख्य पथ पर बसे टुरुंडू गांव में पीएलएफआई के पूर्व उग्रवादी राम विलास गोप व उसके साथी लक्ष्मण लोहरा की गोली माकर हत्या कर दी गई थी. बताया जा रहा है कि यह घटना को नक्सलियों ने ही अंजाम दिया था.

इसे भी पढ़ेंःमहिला जिप सदस्य ने मंत्री रणधीर सिंह पर लगाया थप्पड़ मारने का आरोप, मंत्री बोले आरोप लगाना आम बात, देखें वीडियो

हाल के दिनों में हुई घटनाएं

1 मार्च, 2019 गुमला शहर के पालकोट रोड के पास एक युवक की हत्या करने के बाद अपराधियों ने उसके शव को जला दिया था.

21 मार्च 2019 खूंटी-सिमडेगा मुख्य पथ पर बसे टुरुंडू गांव में घर में घुसकर पीएलएफआई के पूर्व उग्रवादी राम विलास गोप व उसके साथी लक्ष्मण लोहरा की गोली माकर हत्या कर दी गई थी.

26 मार्च 2019 घाघरा थाना क्षेत्र के दोदांग गांव के समीप कस्तूरबा स्कूल के बिंदेश्वर चिकबड़ाईक की धारदार हथियार से मारकर अज्ञात अपराधियों ने हत्या कर दी थी.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में महागठबंधन टूटा, सुभाष यादव को राजद ने चतरा से बनाया उम्मीदवार

घटनाओं को रोकने का कर रहे प्रयास : गुमला एसपी

गुमला एसपी अंजनी झा ने इस मामले में बताया कि हमलोग हत्या की घटनाओं को रोकने का प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए हम सर्वे कर रहे हैं कि किस प्रकार की ज्यादा हत्याएं हो रही हैं. वैसी हत्याओं को रोकने का हम हर संभव प्रयास करेंगे. अपराधियों के खिलाफ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: