DhanbadJharkhand

हड़ताल पर गये धनबाद नगर निगम के 1500 सफाई कर्मी

Dhanbad :  सफाई कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर नगर निगम कार्यालय समेत सभी अंचल कार्यालय और कांपेक्टर स्टेशन पर घेराव की चेतावनी दी. इससे निबटने के लिए धारा 144 के तहत सभी जगह निषेधाज्ञा लागू कर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया. पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत झारखंड लोकल बॉडीज इम्पलायज फेडरेशन के बैनर तले सोमवार से निगम क्षेत्र में सफाई कर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा गोल्फ ग्राउंड में हुई  बैठक के बाद की. इसके बाद नगर निगम कार्यालय में धारा 144 लगा दिया है. निगम के 1500 सफाई मजदूर हड़ताल पर चले गए.

इसे भी पढ़ें: सबरीमला विवाद का असर ! कोलकाता के एक काली पूजा पंडाल में महिलाओं की इंट्री बैन

कानून का पालन करते हुए हम अपने आंदोलन पर डटे रहेंगे

SIP abacus

18 सूत्री मांगों को लेकर फेडरेशन ने पिछली 30 तारीख को ही नगर निगम प्रबंधन, अनुमंडल पदाधिकारी समेत उपायुक्त को पत्राचार के जरिये 5 नवंबर को हड़ताल कर निगम मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन कार्यक्रम का कार्यक्रम की सूचना दी थी. लेकिन धनबाद नगर निगम ने पहले ही सभी जगहों पर धारा 144 लगा दिया. जिसके कारण कर्मियों ने गोल्फ ग्राउंड में बैठक कर आगे की रणनीति पर चर्चा की.

MDLM
Sanjeevani

बैठक की अगुवाई कर रहे फेडरेशन के धनबाद प्रभारी अंजनी सिंह ने कहा कि धनबाद नगर निगम के 1500 सौ सफाई कर्मी सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं. जब तक मांगें पूरी नहीं होती सफाई कर्मियों की हड़ताल जारी रहेगी. कहा कि निगम में सफाई कर्मियों का शोषण किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं होगा. धरना प्रदर्शन पर रोक के लिए तमाम जगह पर निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है. फेडरेशन इससे पीछे नहीं हटने वाला है. कानून का पालन करते हुए हम अपने आंदोलन पर डटे रहेंगे. निगम की ओर से दबाव बढ़ने पर थाने में गिरफ्तारी देने से भी पीछे नहीं हटने वाले हैं.

इसे भी पढ़ें: पलामू : युवा उद्यमियों के पलायन को रोकने के लिए चेंबर बनाएगा यूथ विंग

धनबाद निगम के सफाई कर्मियों की हड़ताल गलत

धनबाद नगर निगम के नगर आयुक्त ने बताया कि धनबाद निगम के सफाई कर्मियों की हड़ताल गलत है. कहा कि सफाई कर्मियों की वेतन बढ़ोतरी डीए का भुगतान पिछले एक तारीख को ही कर दिया गया. कहा कि छठ को देखते हुए सभी पार्षदों को नये सफाई कर्मी रखने का आदेश दिया गया. कोई सफाई के कार्य में बाधा पहुंचाता है तो उस पर क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी.

Related Articles

Back to top button