न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दक्षिण कश्मीर में अभी भी 150 देशी-विदेशी आतंकी सक्रिय : सेना

सेना की विक्टर फोर्स के जीओसी मेजर जनरल जॉनसन पी मैथ्यु ने कहा कि अंसार-उल-गजवा-ए-हिंद के छह आतंकियों के मारे जाने के बाद भी दक्षिण कश्मीर में करीब 150 देशी-विदेशी आतंकी सक्रिय हैं

948

Srinagar : सेना की विक्टर फोर्स के जीओसी मेजर जनरल जॉनसन पी मैथ्यु ने कहा कि अंसार-उल-गजवा-ए-हिंद के छह आतंकियों के मारे जाने के बाद भी दक्षिण कश्मीर में करीब 150 देशी-विदेशी आतंकी सक्रिय हैं. कहा कि  कुछ महीनों में दक्षिण कश्मीर के हालात में सुधार हुआ है, लेकिन स्थिति संवेदनशील ही है. बता दें कि आरमपोरा त्राल में छह आतंकियों के मारे जाने के बाद पत्रकारों से बातचीत के क्रम में मेजर जनरल मैथ्यु ने कहा कि गांव के बाहर आतंकियों ने ठिकाना बना रखा था.  सूरज की पहली किरण के साथ हमने तलाशी अभियान शुरू किया और कुछ ही देर बाद आतंकियों का पता चल गया;  इस दौरान न तो नागरिक क्षति हुई और न ही सुरक्षाबलों को भी कोई नुक्सान पहुंचा है. अभियान पूरी तरह सफल रहा है.

mi banner add

बताया कि छह आतंकियों के मारे जाने से जाकिर मूसा को भारी झटका पहुंचा है.  क्योंकि इन छह आतंकियों में एक उसका डिप्टी भी है.आतंकी इलाके में नये लड़कों की भर्ती में जुटे थे. दक्षिण कश्मीर के मौजूदा हालात के बारे में पूछे जाने पर कहा कि मेरे ख्याल से हालात पहले से बेहतर हैं,  लेकिन स्थिति अभी भी संवेदनशील है.

नये लड़कों, छात्रों के आतंकी बनने के कई कारण

Related Posts

कर्नाटक : सियासी ड्रामा जारी, फ्लोर टेस्ट अटका,  विधानसभा शुक्रवार तक के लिए स्थगित ,भाजपा  धरने पर

भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वे विश्वास मत पर फैसले तक सदन में रहेंगे.  हम सब यहीं सोयेंगे.

कश़्मीरी युवकों के आतंकी बनने के संदर्भ में पूछे गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नये लड़कों, छात्रों के आतंकी बनने के कई कारण हैं.  कट्टर धर्मांध मानसिकता बड़ा कारण है. मेजर जनरल के अनुसार विमुखता और पाकिस्तान द्वारा छेड़ा गया छद्म युद्ध के अलावा राष्ट्रविरोधी दुष्प्रचार भी लड़कों को आतंकवाद की तरफ धकेल रहा है. कहा कि  हमारा हमेशा प्रयास रहता है कि आतंकवाद के रास्ते पर गये युवकों को हर संभव प्रयास से मुख्यधारा में शामिल किया जाये. बताया कि हम मुठभेड़ के दौरान भी आतंकियों को जिंदा पकड़ने की कोशिश करते हैं.

मेजर जनरल जॉनसन पी मैथ्यु ने  आतंकी बने युवकों से अपील की कि वे हिंसा छोड़ें और मुख्यधारा में शामिल हों.  यहां सरकार है, लोकतंत्र हैं और अगर आतंकवाद की तरफ जाने वाले युवकों को कोई समस्या है तो वह बंदूक छोड़ें और लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा बन मसलों को हल करें.   दक्षिण कश्मीर में आतंकियों की संख्या पर उन्होंने कहा कि 150 देशी-विदेशी आतंकी इलाके में अब भी मौजूद हैं.  इन्हें खत्म करने के लिए अभियान तेज किया जा रहा है.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: