National

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में EVM क्षतिग्रस्त होने की 15 घटनाएं, चुनाव आयोग करेगा कार्रवाई

New Delhi : 17वीं लोकसभा के लिए प्रथम चरण का मतदान कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़कर शांतिपूर्वक संपन्न हो गया. पहले चरण के मतदान में तोड़फोड़ के कारण कुल 15 इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को नुकसान पहुंचा. चुनाव आयोग ने यह जानकारी दी.

कहां कितने ईवीएम मशीन क्षतिग्रस्त 

निर्वाचन उपायुक्त संदीप जैन ने कहा कि 18 राज्यों और दो केंद्रशासित प्रदेशों में फैली 91 लोकसभा सीटों के लिए हुए मतदान के दौरान 15 घटनाओं की जानकारी मिली है. जिसमें छह घटनाएं अकेले आंध्र प्रदेश से हैं.

जन सेना के उम्मीदवार मधुसूदन गुप्ता को अनंतपुर जिले के गूटी में एक ईवीएम मशीन तोड़ने के लिए गिरफ्तार किया गया. जैन ने कहा कि ईवीएम क्षतिग्रस्त करने की पांच अन्य घटनाएं अरुणाचल प्रदेश से, दो मणिपुर, और एक-एक बिहार और पश्चिम बंगाल में घटी हैं.

वहीं वरिष्ठ उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने बताया कि चुनाव सामग्री को नुकसान पहुंचाने और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी.

इसे भी पढ़ेंःपलामू : 70 साल में एक बांध का भी नहीं हुआ निर्माण, ग्रामीण करेंगे वोट…

ईवीएम में गड़बड़ी के कारण आंध्र प्रदेश में चुनाव प्रक्रिया में देरी

आंध्र प्रदेश के कई जिलों में ईवीएम में खराबी आने के कारण 300 से अधिक मतदान केन्द्रों पर गुरुवार देर रात तक मतदान जारी रहा. मतदान समाप्त होने का समय शाम छह बजे था. हालांकि, मतदान केन्द्रों के बाहर मतदाताओं की कतार होने के कारण उन्हें वोट डालने की अनुमति दी गई.

गौरतलब है कि राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी गोपाल कृष्ण द्विवेदी मतदान को लेकर बताया कि अगर मध्य रात्रि भी हो जाए तब भी अगर आप शाम छह बजे से पहले से कतार में हैं तो अपना वोट दे सकते हैं. गौरतलब है कि शाम छह बजे तक राज्य के 175 विधानसभा और 25 लोकसभा सीटों के लिए रिकार्ड 74 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज हुआ है.

इसे भी पढ़ेंःपूरी तरह से फेल रही है केंद्र की मोदी सरकार : कीर्ति आजाद

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close