न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चुनाव आयोग को 145 रिटायर्ड अफसरों ने लिखा ओपन लेटर, उठाए चुप्पी पर सवाल

आम चुनाव 2019 से जुड़े विवादों पर चुनाव आयोग की प्रतिक्रिया पर खड़े किए सवाल

1,094

New Delhi : चुनाव आयोग के खिलाफ 145 रिटायर्ड अफसरों ने आवाज उठाई है. जिसमें रिटायरड सिविल और सैन्य अफसर व शिक्षाविद शामिल हैं. अफसरों ने 2019 में आम चुनाव से जुड़े हर तरह के विवादों को लेकर चुनाव आयोग के खिलाफ आवाज उठाया है.

mi banner add

इनमें 64 पूर्व आईएएस, आईएफएस, आईपीएस और आईआरएस अफसरों ने चुनाव आयोग को ओपन लेटर लिखा है. वहीं इस लेटर का 83 रिटायर्ड सिविल और सैन्य अफसरों व शिक्षाविदों ने समर्थन किया है.

इसे भी पढ़ेंःबेटे आकाश विजयवर्गीय पर कार्रवाई, पर मीडिया की औकात पूछने वाले पिता का क्या करेंगे मोदी

क्या है ओपन लेटर में

अंग्रेजी अखबार द टेलिग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, लेटर में लिखा है कि 2019 का आम चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के मामले में बीते तीन दशकों में सबसे नीचे नजर आता है.  साथ ही यह भी लिखा है कि 2019 का जनादेश शक के घेरे में है.

लेटर में कहा गया है कि चुनाव आयोग की ओर से लोकतंत्र की भलाई के लिए जताए गए संदेहों पर सफाई नहीं दी गई है. चुनाव आयोग को खुद से पहल करते हुए हर कथित अनियमितता के आरोप पर सफाई जारी करने की जरूरत है. और ऐसा दोबारा न हो यह भी सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाना चाहिए, ताकि लोगों का चुनावी प्रक्रिया में भरोसा कामय रहे.

इसे भी पढ़ेंःअमेरिका ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी को आतंकी संगठन घोषित किया

चिट्ठी में चुनाव की तारीख, शेड्यूल, मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघनों, पुलवामा-बालाकोट जैसे मुद्दों का चुनाव प्रचार में इस्तेमाल, पीएम के हेलिकॉप्टर की तलाशी पर आईएएस अफसर के ट्रांसफर, नीति आयोग की भूमिका, नमो टीवी, इलेक्टोरल बॉन्ड्स, ईवीएम आदि से जुड़े विवादों पर सवाल उठाए गए हैं.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड के बाद बिहार में मॉब लिंचिंग, चोरी के शक में युवक की पीट-पीटकर हत्या

इन्होंने किया लेटर पर साइन

अखबार के मुताबिक, लेटर पर साइन करने वालों में पूर्व आईएएस अफसर वजाहत हबीबुल्ला, हर्ष मंदेर, अरुणा रॉय, जौहर सरकार, एनसी सक्सेना और अभिजीत सेनगुप्ता के अलावा पूर्व आईएफएस अफसर देब मुखर्जी और शिव शंकर मुखर्जी शामिल हैं.

इन्होंने किया लेटर का समर्थन

चिट्ठी का समर्थन करने वालों में एडमिरल एल रामदास, एडमिरल विष्णु भागवत, निवेदिता मेनन, प्रबल दासगुप्ता, परंजॉय गुहा ठाकुरता और लीला सैमसन के नाम शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंःमहाराष्ट्रः रत्नागिरी में तवरे डैम टूटा, दो की मौत-22 लापता, सात गांवों में बाढ़

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: