न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

14 तक होल्ड नहीं हटा तो, 15 को होगी एसबीआई छत्तरपुर शाखा में तालाबंदी: भाजपा

16

Palamu: भारतीय स्टेट बैंक की छत्तरपुर शाखा में खातों पर लगे होल्ड के कारण मामला काफी गरमा गया है. सभी तरह के खाताधारी परेशान हैं. बैंक मैनेजर द्वारा स्थिति से निपटने के बजाये शाखा के बाहर बोर्ड लगाकर अपने कत्र्तव्यों की इतिश्री कर ली है. हर दिन खाताधारी बैंक पहुंच रहे हैं और परेशानी से निजात पाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अबतक इस दिशा में कोई ठोस पहल नहीं की गयी है.

भाजपा ने दी आन्दोलन की चेतावनी

इस बीच भारतीय जनता पार्टी की लठेया मंडल अध्यक्ष नरेश यादव, हरेंद्र सिंह, अशोक सोनी, सुधीर सिन्हा सहित अन्य पार्टी नेताओं ने शाखा प्रबंधक को 14 जनवरी तक वृद्धावस्था पेंशनधारियों के खाते से होल्ड हटवाने के लिए अलग से एक काउंटर की व्यवस्था करने की मांग की है. 14 जनवरी तक सारे खातों से होल्ड नहीं हटाये जाने पर 15 जनवरी को बैंक में तालाबंदी करने की चेतावनी दी गयी है.

शाखा प्रबंधक और फील्ड आफिसर पर लापरवाही का आरोप

भाजपा नेताओं ने छत्तरपुर एसबीआई बाजार मेन ब्रांच के शाखा प्रबंधक राजीव कुमार व फील्ड ऑफिसर जयंत कुमार पर लापरवाही का आरोप लगाया है. भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि यह डरावना तथ्य है कि वर्ष 2017 में केवाईसी के नाम पर और वर्ष 2018 से अबतक खातों में लगे होल्ड हटवाने के नाम पर छतरपुर एसबीआई मेन ब्रांच के मैनेजर और एरिया ऑफिसर वृद्ध, असहाय और लाचार लोगों के साथ बिल्कुल गंदा खेल खेल रहे हैं, जो शर्मनाक होने के साथ साथ अमानवीय भी है. बैंक कर्मियों के इस गंदे खेल ने न सिर्फ दर्जनों वृद्ध और लाचारों को बीमार किया है, बल्कि कई लोगों की मौत भी बैंक के चक्कर लगाते हुए हो चुकी है.

शाखा प्रबंधक और एरिया ऑफिसर के ट्रांसफर की मांग

भारतीय जनता पार्टी इस अमानवीय कृत्य की भर्त्सना करती है. नेताओं ने दोनों अधिकारियों को शाखा से ट्रांसफर की मांग की है. उन्होंने कहा कि जबतक दोनों अधिकारी बैंक में रहेंगे, तब तक किसी गरीब, नौजवान और किसानों का काम नहीं होगा. कहा कि पूरा इलाके के किसान सुखाड़ से उपजी स्थितियों का सामना कर रहे हैं. सरकार भी किसानों की मदद के लिए कृत संकल्प है. सुखाड़ अनुदान आने ही वाला है. आनेवाले निकट भविष्य में कृषि की कई योजनाएं जमीन पर होंगी. सांसद और विधायक भी क्षेत्र के किसानों के राहत के लिए लगातार काम कर रहे हैं. लेकिन शाखा प्रबंधक और एरिया ऑफिसर अपने कर्तव्यों से मुंहमोड़े हुए हैं.

सात माह में एक भी केसीसी नहीं, शिक्षित बेरोजगारों को नहीं मिला लोन 

बैंक अधिकारियों की लालफीताशाही के कारण पिछले सात महीने से क्षेत्र के एक भी किसान को नया केसीसी लोन नहीं मिला है. क्षेत्र के लगभग दो सौ कुशल नौजवान सालभर से इसलिए बैंक का चक्कर काटते रहे कि लोन लेकर वे अपना रोजगार प्रारंभ करेंगे. लेकिन बैंक ने लोन नहीं किया गया और इन कुशल नौजवानों का भविष्य बैंक अधिकारियों की लापरवाही और मनमानी के कारण अंधकारमय हो चुका है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: