JharkhandLead NewsNEWSRanchi

जेजेएमपी के एरिया कमांडर को मार गिराने वाले IPS के विजय शंकर समेत 14 को मिलेगा वीरता के लिए पुलिस पदक

Ranchi :  25 फरवरी 2021 में पलामू जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के चोरहट गांव के सेमरहट टोला में झारखंड जनमुक्ति परिषद के एरिया कमांडर महेश भुईयां को मार गिराने वाले आईपीएस अधिकारी पलामू के तत्कालीन एडिशनल एसपी के विजय शंकर समेत 14 पुलिसकर्मी को वीरता के लिए पुलिस पदक (पीएमजी) से सम्मानित किया जायेगा. मूलत: गढ़वा जिले के रमकंडा थाना अंतर्गत रक्सी गांव निवासी महेश भुइयां के खिलाफ पांच लाख रुपये इनाम घोषित करने की अनुशंसा की गयी थी. पलामू के अलावा गढ़वा और लातेहार क्षेत्र में सक्रिय महेश भुइयां लेवी के लिए ठेकेदार, माइंस संचालक, ईंट भट्ठा संचालक आदि के साथ मारपीट करने, आगजनी करने आदि की घटनाओं को अंजाम देता था. मुठभेड़ में पुलिस ने एक-47, पिस्टल आदि बरामद किया था. इसके अलावे जगुआर के 6 जवान कुंदन कुमार, परमानंद चौधरी, अजय कुजूर, देव कुमार महतो, अजीत औड़ेया, रमकंडा, और कृष्ण प्रसाद नियोपाने को मरनोपरांत वीरता के लिये पुलिस पदक मिला है. वीरता के लिये पुलिस पदक सुशील टुडू (एसआई), प्रभात रंजन राय (एसआई), रंजीत कुमार (सिपाही), छोटे लाल कुमार (सिपाही), फगुवा होरो (एसआई),  लालेश्वर महतो (इंस्पेक्टर) और रामेश्वर भगत (एसआई) को दिया जायेगा.

एलआरपी से लौटते वक्त सीरियल ब्लास्ट में शहीद हुए थे जवान

जून 2018 में पूर्व भंडरिया थाना क्षेत्र में बूढ़ा पहाड़ से लगे खपरीमहुआ गांव के पास नक्सलियों द्वारा किए गए सीरियल बम ब्लास्ट में जगुआर के छह जवान शहीद हो गए. इसमें पलामू हुसैनाबाद के कुंदन कुमार, दुमका रघुनाथगंज के परमानंद चौधरी, गुमला जिले के बसिया निवासी अजय कुजूर, गोड्डा पथरगामा निवासी देव कुमार महतो, गढवा रमकंडा निवासी अजीत औड़ेया, रमकंडा, और रांची डोरंडा निवासी कृष्ण प्रसाद नियोपाने शामिल थे. पुलिस और झारखंड जगुआर की टीम एलआरपी से लौट रही थी. खपरीमहुआ स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय से करीब 50 मीटर दूर जैसे ही पोलपोल गांव के पहुंच पथ पर पहुंची, नक्सलियों द्वारा लगाए गए बम में ब्लास्ट होने लगा. जैसे-जैसे सुरक्षाबल आगे बढ़ते गए, वे विस्फोट में उड़ते चले गए. झारखंड में पहली बार नक्सलियों ने ऐसा सीरियल बम ब्लास्ट कर पुलिस को बड़ी क्षति पहुंचाई. नक्सलियों ने घटनास्थल पर 80 सीरीज बम लगाए थे. जवानों के पैर पड़ते ही उनमें विस्फोट होता गया. 80 में से 30 बम विस्फोट हुए.

चुटिया थाना प्रभारी को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति का पुलिस पदक

राजधानी रांची के चुटिया थाना में तैनात थाना प्रभारी वेंकटेश प्रसाद को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति का पुलिस पदक (पीपीएम) से सम्मानित किया जायेगा. नन आईपीएस अधिकारी को 25 साल बेहतर सर्विस के बाद यह पदक मिलता है. वेंकटेश प्रसाद को इससे पूर्व सराहनीय सेवा के लिये पुलिस पदक से सम्मानित किया जा चुका है.

11 को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक

झारखंड में तैनात11 को पुलिसकर्मियों को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक (पीएम) से सम्मानित किया जायेगा. इसमें स्पेशल ब्रांच के डीएसपी अरविंद कुमार, जमशेदपुर सीसीआर के डीएसपी अनिमेष कुमार गुप्ता, वायरलेस हेटक्वाटर में टेक्निकल इंस्पेक्टर विमलकांत कुमार,  एटीएस में तैनात एसआई साकिर अंसारी, एटीएस में तैनात एएसआई जेम्स टोप्पो,  चाईबासा में तैनात एएसआई रजनीश कुमार,  एसटीएफ में तैनात हवलदार मुकरू सुंडी,  एटीएस में तैनात हवलदार बलराम बहादुर सिंह, जैप-7 के हवलदार सुभाष धोबी,  एटीएस के सिपाही मंगल गुरुंग और जैप-1 के सिपाही लालू लामा का नाम शामिल है.

इसे भी पढ़ें: ईडी की छापेमारी में प्रेम प्रकाश के घर से जब्त कंबोडियाई कछुए को बिरसा जू में मिला साथी कछुओं का साथ

Related Articles

Back to top button