JharkhandLead NewsRanchi

पांच दिवसीय विशेष मध्यस्थता अभियान के पहले दिन 14 मामलों का निपटारा

Ranchi : झालसा की पहल पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार स्थित मध्यस्थता केन्द्र में आयोजित पांच दिवसीय विशेष मध्यस्थता अभियान का उद्घाटन किया गया. इस अवसर पर पंचानन सिंह ने कहा कि आज का दिन उन लोगों के लिए अहम है, जो पारिवारिक वाद के लिए वाद न्यायालय में दायर करते हैं और उनका वाद लम्बे समय से न्यायालय में चलता ही रहता है. उनके वादों को मध्यस्थता के माध्यम से सुलझाया जाता है.

मनीषा कुमारी ने कहा कि पारिवारिक जीवन तभी शांति से रह सकता है, जब परिवार के सभी सदस्यों में शांति होगी. उन्होंने कहा कि पक्षकार मध्यस्थता के माध्यम से अपने वादों को मध्यस्थता केंद्र में आकर सुलझा सकते हैं.

advt

इसे भी पढ़ें: खुशखबरीः भारत और न्यूजीलैंड के बीच जेएससीए स्टेडियम में 19 नवंबर को खेला जायेगा टी-20 मैच

वहीं एसके शशि ने कहा कि पारिवारिक वाद कानूनी वाद नहीं है. इसे एक मंच का रूप देने के लिए कानून में लाया गया है. यह एक सामाजिक समस्या है. पारिवारिक वादों को सुलझाने में मध्यस्थों और पीठासीन न्यायिक दण्डाधिकारियों का अहम योगदान रहता है.

फैमिली जज ऋषिकेश ने कहा कि वर्ष में चार बार तीन-तीन महीने में विशेष मध्यस्थता अभियान का आयोजन न्यायालयों में किया जाता है. मध्यस्थता अभियान में पक्षकार जो चाहते हैं, वही होता है.

उन्होंने कहा कि पूर्व की भांति इस बार भी आहूत विशेष मध्यस्थता अभियान में अधिक से अधिक वादों का निबटारा किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें:रूपा तिर्की केस: सीबीआइ को मिला कांग्रेस विधायक बंधु तिर्की का ऑडियो, वीडियो टेप, परिजनों को कर रहे हैं ‘मैनेज’- सुनिये ऑडियो..

मध्यस्थता अभियान के पहले दिन परिवार न्यायालय एवं विभिन्न न्यायालयों से कुल 28 मामले अग्रसारित होकर मध्यस्थता केन्द्र में प्राप्त हुए.

जिन्हें भिन्न-भिन्न मध्यस्थ को सुपुर्द किया गया, जिनमें कुल 14 (चौदह) मामलों में सफलता मिली और दोनों पक्ष राजी-खुशी से अपने मामले को समाप्त करने के लिए तैयार हो गये.

अन्य मामलों में अभी अंतिम स्तर की बातचीत बाकी है, इसलिए वे मामले विशेष मध्यस्थ के पास अगले स्तर के सुनवाई के लिए लंबित हैं. यह मध्यस्थता अभियान 25 सितम्बर तक चलेगा, वादकारी अपने वादों का निबटारा फिजिकल रूप से उपस्थित होकर करा सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: 27 सितंबर को कृषि कानून के खिलाफ कांग्रेस का भारत बंद

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: