BokaroJharkhand

हैदराबाद से सुरक्षित गोमिया लौटे 13 लोग, कोरोना जांच के लिए साड़म में की गयी 9 लोगों की सैंपलिंग

Gomia/Bokaro: हैदराबाद से शुक्रवार को देर रात रांची के हटिया पहुंचे प्रवासी मजदूरों का शनिवार सुबह तक गोमिया पहुंचना जारी रहा. इसके खास इंतजाम के लिए गोमिया कोविड-19 के वरीय पदाधिकारी सह गोमिया सीओ ओमप्रकाश मंडल घटनास्थल पर मौजूद रहे. गोमिया पहुंचने के बाद गोमिया प्रखंड प्रशासन द्वारा उन्हें 14 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन में रखा जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंः #Ranchi : झारखंड के शीर्ष भाकपा माओवादियों के निवेशक मनोज चौधरी को एनआइए ने किया गिरफ्तार

1200 प्रवासी शुक्रवार देर रात पहुंचे हैं

शुक्रवार को हैदराबाद के लिंगमपल्ली स्टेशन से स्पेशल ट्रेन के जरिए झारखंड के 1200 प्रवासी मजदूर शुक्रवार देर रात रांची के हटिया स्टेशन पहुंचे. इसमें 13 मजदूर व छात्र सांगारेडी से गोमिया के लिए थे. इस दौरान मजदूरों की स्क्रीनिंग की गई और फिर स्टेशन परिसर के बाहर लगे बसों के जरिए उन्हें उनके घरों तक लाया गया. प्रशासन द्वारा मजदूरों को घर छोड़ने के दौरान सभी तरह की सावधानी बरती गई.

advt

गोमिया पहुंचे प्रवासी मजदूरों की बीच गोमिया सीओ मंडल बताया कि ट्रेन में रांची, धनबाद, बोकारो, गिरिडीह, कोडरमा, दुमका और इसके आसपास के विभिन्न जिलों के भी छात्र सवार थे. रांची से गोमिया पहुंचने के बाद छात्रों को प्रशासन की ओर से सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कराया गया. लौटने वाले लोग कथारा, कुंदा, बड़की पुन्नू, टिकाहारा कसियाडीह, बौराहा टोला और होसिर के हैं.

इसे भी पढ़ेंः  #FightAgainstCorona : केंद्र सरकार ने 11.45 करोड़ हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट मंगवाने का अर्जेंट ऑर्डर दिया

उपायुक्त ने दिये निर्देश

बाहर से आये लोगों को उपायुक्त बोकारो के निर्देशानुसार स्वस्थ्य रहने, सामाजिक दूरी का पालन कर अपने अपने घरों में सुरक्षित रहने को कहा गया है. वहीं नियमित व्यायाम, योगा करने, हमेशा अपने मुंह को मास्क, रुमाल या गमछा से ढंककर रखने की सलाह दी गयी. उन्होंने इस दौरान 14 दिनों तक इन निर्देशों का कड़ाई एवं अनुशासन से पालन करने की हिदायत दी.

जिसके बाद उन्हें उनके संबंधित पैतृक आवास पहुंचाया गया. गोमिया सीओ श्री मंडल ने कहा कि राजस्थान कोटा से लौटने वाले मजदूरों व छात्रों को सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए प्रशासन द्वारा एतिहातन उन्हें होम क्वारेंटाइन किया जाएगा. मौके पर गोमिया अंचल निरीक्षक सुरेश बरनवाल सहित गोमिया थाना प्रभारी विनय कुमार सदल बल उपस्थित थे.

adv

इसे भी पढ़ेंः #Ranchi : टीपीसी का सब जोनल कमांडर दिनेश गंझू रांची से गिरफ्तार

साड़म से 9 नए लोगों की हुई सैम्पलिंग

बेरमो अनुमंडल में कोरोना संक्रमण के चलते चिह्नित किए गए हॉटस्पॉट साड़म सहित आसपास के अति संवेदनशील क्षेत्रों के लिए राहत भरी खबर है. इन क्षेत्रों में पिछले 14 दिनों से कोई भी कोरोना पॉजिटिव मरीज न मिलने की वजह से इन्हें हॉटस्पॉट जोन से बाहर करने की प्रक्रिया चलाया जा रहा है. यह इलाके अब ऑरेंज जोन में शामिल हैं.

हालांकि, अब भी साड़म, चटनियांबाग, दलालटोला सहित विभिन्न स्थानों पर पूरी सतर्कता बरती जा रही है. शनिवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा पुनः उक्त क्षेत्रों से 9 नए लोगों की सैम्पलिंग ली गई है. गोमिया स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी चिकित्सक डॉ. एच बारला ने बताया कि बोकारो जिले को ग्रीन जोन में तब्दीली के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर इन इलाकों से रैंडम चेकिंग अभियान के तहत नए सैम्पल कलेक्ट किए गए हैं.

जिन्हें परीक्षण के लिए बोकारो भेजा गया है. बताया कि चटनियांबाग़ में कोरोना संक्रमित की मौत और चार संक्रमित पाए जाने के बाद इसे हॉटस्पॉट घोषित किया गया है. वहीं जिले में पिछले 14 दिनों से कोई भी पॉजिटिव मरीज नहीं मिलने से ऑरेंज जोन घोषित किया गया है. बोकारो जिले के जिन दो इलाकों को हॉटस्पॉट से हटाया गया है उनमें चन्द्रपुरा के तेलो और गोमिया का साड़म क्षेत्र है.

बेरमो अनुमंडल के दोनों हॉटस्पॉट इलाकों को सील कर दिया गया था. 14 दिन तक दोनों जगह पर कोई भी केस न आने पर ये इलाके ऑरेंज जोन में आ गए थे. डॉ. बारला ने बताया कि दोनों हॉटस्पॉट पर 28 दिन तक कोई नया केस न आने पर उसे ग्रीन जोन में डालकर हॉटस्पॉट एरिया से बाहर कर दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः #CoronaVirus : चीन में कोरोना वायरस संक्रमण काबू में, मात्र 1 केस सामने आया

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button