Bihar

बिहारः तीन दिनों से हो रही लगातार बारिश से 13 की मौत, 5 मंत्रियों के घरों में भरा पानी, 22 जिलों में अलर्ट

Patna:  देश के अन्यि हिस्सों की तरह बिहार में भी लगातार तीन दिनों से बारिश हो रही है. तेज और मुसलाधार बारिश की वजह से अब तक 13 लोगों की जान चुकी है. मरने वालों में गया में छह, कैमूर में तीन, भोजपुर, नवादा, समस्तीपुर और मोतिहारी में एक-एक व्यक्ति हैं.

वहीं राज्य के 22 जिलों में बाढ़ का खतरा बना हुआ है. मौसम विभाग के अनुसार रविवार को भी बारिश से छुटकारा नहीं मिलने वाला है. इसे देखते हुए सरकार ने सभी जिलों में 15 अक्टूबर तक हाई अलर्ट पर रहने का आदेश जारी कर दिया है.

इसे भी पढ़ेंः कर्ज लौटाने की समय सीमा नहीं बढ़ी तो #ZeeMedia वाली एस्सेल ग्रुप डूब जायेगी!

खबरों के अनुसार दक्षिण उत्तर प्रदेश और इससे लगे उत्तरी मध्य प्रदेश के ऊपर साइक्लोनिक सर्कुलेशन और बंगाल की खाड़ी से झारखंड और गंगीय क्षेत्र होते हुए कम दबाव का क्षेत्र बनने की वजह से पूरे बिहार में कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश हुई.

मौसम विभाग के अनुसार ये हालात 30 सितंबर तक बने रहेंगे. बारिश के कहर का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि पटना में राज्य के पांच मंत्री नंद किशोर यादव (सड़क निर्माण मंत्री), कृष्ण नंदन वर्मा (शिक्षा मंत्री), सुरेश शर्मा (नगर विकास मंत्री‌), संतोष निराला (परिवहन मंत्री) और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के घर में भी बारिश का पानी घुस गया है.

इसे भी पढ़ेंः #BajrangDal का फरमान – गरबा में गैर-हिंदु करते हैं महिलाओं को परेशान, आधार कार्ड जांचकर रोकें एंट्री

कितनी हुई है बारिश

पटना में शनिवार को बारिश ने 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया. 24 घंटे और एक महीने में बारिश होने का भी रिकॉर्ड टूटा है. पटना में शनिवार को 177 मिमी बारिश दर्ज की गयी.

इससे पहले 3 सितंबर 2013 को 24 घंटे और 158 मिमी बारिश हुई. गौरतलब है कि सितंबर में अभी दो दिन बचे हैं. इस महीने में शनिवार तक 429 मिमी बारिश दर्ज की गयी है.

एक महीने में बारिश का रिकॉर्ड सितंबर में ही 2016 में 399.4 मिमी का था.

डिप्टी सीएम सुशील मोदी के घर में घुसा पानी

डिप्ट सीएम सुशील कुमार मोदी के घर में पानी घुस गया है. बता दें कि मोदी शहर के नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री भी रह चुके हैं. वे पटना मध्य के लंबे समय तक विधायक रहे हैं, जहां अभी सबसे ज्यादा जलजमाव की समस्या है.

लेकिन उनके निजी आवास में भी पानी का जमाव हो गया है. उनके राजेंद्र नगर के घर के पास अभी पांच फीट से अधिक पानी भरा हुआ है. इसी तरह पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव के बंगले में दो फीट पानी जमा है.

इन जिलों में किया गया है अलर्ट घोषित

Red Alert : सुपौल, अररिया, किशनगंज,  बांका, समसतीपुर, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, दरभंगा, भागलपुर, खगड़िया, कटिहार, वैशाली, मुंगेर जिले को रेड अलर्ट किया गया है. इन 14 जिलों में 210 एमएम से अधिक बारिश होने की आशा है.

Orange Alert  : शिवहर, सीतामढ़ी, सारण, बेगूसराय, भोजपुर, बक्सर, जमुई, मधुबनी, मुजफ्फरपुर जिले को औरेंज अलर्ट है. 120 एमएम से 200 एमएम बारिश होने की संभावना है.

Yellow Alert : पटना, शेखुपरा, लखीसराय, नालंदा, सीवान, गोपालगंज,  नवादा, पूर्वी और पश्चिमी चंपारण में यलो अलर्ट है. 70 से 110 मिमी वर्षा की संभावना है.

यूपी में 24 घंटे में 50 से अधिक लोग मरे

इधर यूपी में लगातार बारिश के कहर से 24 घंटों में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. और राज्य में बड़े पैमाने पर फसलों का नुकसान हुआ है. ज्यादातर मौतें बारिश के कारण घरों के गिरने से हुई है.

इनमें सबसे ज़्यादा मौतें अमेठी और प्रतापगढ़ में हुई है. अमेठी में 7 और प्रतापगढ़ में 6 लोगों की मौतें हुईं है. इसी तरह चंदौली, वाराणसी और आज़मगढ़ में चार-चार लोगों की मौत हुई है. पूरे प्रदेश में हज़ारों की तादाद में घर गिरे और पेड़ टूट गये हैं.

खबरों के अनुसार 24 घंटे में पांच लोग अलग-अलग स्थानों में सांपों के काटने से मर गये है.

इसे भी पढ़ेंः पलामू : वायरल #Audio में धमकी देते सुनाई दे रहे पांकी #MLA, विरोधी हुए #Active

 

 

Related Articles

Back to top button