JharkhandRanchi

12वीं झारखंड स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप संपन्न

Ranchi: 12वीं तीन दिवसीय झारखण्ड स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप -2022 रविवार को रांची के खेलगांव स्थित टिकैत उमराव सिंह शूटिंग रेंज होटवार में संपन्न हो गयी. इस अवसर पर झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रविंद्र नाथ महतो ने  राज्यभर से आए लगभग 650 से अधिक शूटरों की हौसला अफजाई की. कहा कि झारखंड खेलों का प्रदेश है.यहां के छोटे-छोटे गांव से भी बड़े बड़े खिलाड़ी निकलकर विश्व पटल पर अपनी छाप छोड़ी है. उन्हें विश्वास है कि शूटिंग चैंपियनशिप से भी कुछ शूटर्स ऐसे निकलेंगे जो विश्व शूटिंग चैंपियनशिप और ओलंपिक में भी निशानेबाजी में अपना जौहर दिखाएंगे.

श्री महतो ने कहा कि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि किसी भी खेल में उस खेल से जुड़ी संस्था/ संगठन का भी बहुत बड़ा योगदान होता है जो प्रतिस्पर्धाओं के लिए खिलाड़ियों को तैयार करते हैं,और संस्था से जुड़े लोग अपने व्यस्ततम जीवन से समय निकालकर खेल के लिए समर्पित भाव से विभिन्न आयोजनों का रूपरेखा तैयार करते हैं. झारखंड स्टेट राइफल एसोसिएशन के पदाधिकारियों से मिलकर और उनकी खेल भावनाओं को समझ कर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वह दिन दूर नहीं जब उच्च स्तर के शूटिंग चैंपियनशिप में भी झारखंड के खिलाड़ी अपना परचम लहराएंगे.

समापन समारोह के विशिष्ट अतिथि नेशनल रायफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष वी के ढाल ने इस मौके पर स्पष्ट करते हुए कहा कि झारखंड स्टेट राइफल एसोसिएशन नेशनल रायफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया से मान्यता प्राप्त झारखंड में एक मात्र एसोसिएशन है और इसके माध्यम से ही खिलाडी जी वी मावलंकर ईस्ट जोन और नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में भाग ले सकते हैं. इस एसोसिएशन के महासचिव उत्तमचंद और अध्यक्ष दिवाकर सिंह है. उन्होंने कहा कि नेशनल रायफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया का नियम है कि वह एक राज्य में एक ही एसोसिएशन को मान्यता देती है और यह मान्यता केवल झारखंड में झारखंड स्टेट राइफल एसोसिएशन को 2008 से प्रदान की गई है .उन्होंने 12वीं झारखंड स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप के सफल आयोजन  के लिए राइफल क्लब समेत झारखंड स्टेट राइफल एसोसिएशन को बधाई देते हुए कहा कि भविष्य में भी इसी तरह का सफल आयोजन झारखंड में होना चाहिए. इस बार जी वी मावलंकर और इस्ट जोन तथा ऑल इंडिया स्कूली शूटिंग चैंपियनशिप का  आयोजन आसनसोल में होगा.

इस मौके पर झारखंड स्टेट राइफल एसोसिएशन के अध्यक्ष दिवाकर सिंह और उपाध्यक्ष विनय कुमार ने शूटिंग के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रतियोगिता में इसबार रिकॉर्ड 630 से अधिक शूटरों ने भाग लिया तथा अपने प्रदर्शनों से लोगों का दिल जीतने का काम किया है किया है. बाद में इस प्रतियोगिता के विभिन्न स्पर्धाओं में स्वर्ण, रजत और कांस्य जीतने वाले खिलाड़ियों को पुरस्कार प्रदान किया गया.

इसे भी पढ़ें: प्राइवेट प्रैक्टिस पर रोक को बताया तुगलकी फरमान, सामूहिक इस्तीफा देंगे सरकारी डॉक्टर

Related Articles

Back to top button