ChaibasaJharkhand

पश्चिमी सिंहभूम जिले में विलय के कारण खाली पड़े हैं 120 स्कूल भवन, होगा बेहतर उपयोग

डीसी ने दिया अन्य विभागों के काम में उपयोग का निर्देश, बैंक खाता खुलवाने में अव्वल बीइइओ होंगे पुरस्कृत  

Chaibasa :  पश्चिमी सिंहभूम जिले में विलय के बाद कुल 120 स्कूल भवन खाली हैं. उपायुक्त ने निर्देश दिया है कि प्रखंड स्तर पर इन भवनों का बेहतर उपयोग किया जाये. यह जानकारी उपायुक्त अनन्य मित्तल ने दी है. वे समाहरणालय में शिक्षा तथा कल्याण विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के बाद पत्रकारों को इसकी जानकारी दे रहे थे. उपायुक्त ने बताया कि जिले में अभी तक 62.45 प्रतिशत छात्रों का बैंक खाता खोला गया है एवं 85.48 फीसदी छात्रों का आधार इनरोलमेंट किया गया है.

इसे भी पढ़ें – लातेहार : जेजेएमपी उग्रवादी सूरज ने प्रेम प्रसंग और अवैध संबंध में करायी थी भोजपुरी गायक के भाई की हत्या, तीन गिरफ्तार

advt

उपायुक्त ने बताया कि बैठक में छात्रों का बैंक खाता खुलवाने तथा स्कूलों के विलय के बाद खाली पड़े भवनों के बेहतर इस्तेमाल पर विस्तृत चर्चा की गयी. डीसी ने निर्देश दिया है कि सभी प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी वर्गवार विभिन्न बैंकों में भेजे गये आवेदन की रिपोर्ट देंगे. अगले 10 दिन में बेहतर प्रतिशत के साथ बैंक खाता खुलवाने वाले प्रसार पदाधिकारी को जिला स्तर पर पुरस्कृत किया जायेगा.  उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग से मिली रिपोर्ट के आधार पर जिले में 120 स्कूल भवन खाली पड़े हैं. डीसी ने निर्देश दिया है कि प्रखंड स्तर पर स्वास्थ्य विभाग, जेएसएलपीएस, आंगनबाड़ी, खेल एवं समाज कल्याण विभाग के तहत किये जा रहे कार्यों में इन भवनों का उपयोग किया जाये.

बैठक के बाद दिवंगत प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी-कुमारडुंगी की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा गया. बैठक में डीएससओ नीरजा कुजूर,  डीएसइ अनिल चौधरी, सहायक कल्याण पदाधिकारी जोसेफ टोप्पो सहित सभी प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारियों ने भाग लिया.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सोरेन के भोजपुरी-मगही पर दिये विवादित बयान पर बोले नीतीश- राजनीति के लिए कुछ लोग ऐसा बयान देते हैं

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: