न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मॉब लिंचिंग मामले में 12 लोगों को मिली चार साल की सजा, लगा जुर्माना

487

Jamshedpur : मॉब लिंचिंग मामले में कोर्ट ने 12 लोगों को चार-चार साल की सजा सुनाई है. दोषियों को दो-दो हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है. खरसावां जिले के राजनगर प्रखंड के शोभापुर में बच्चा चोरी की अफवाह को लेकर ग्रामीणों ने चार लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. घटना 18 मई 2017 की है. इस मामले में कार्रवाई करने के दौरान लोगों ने पुलिस को रोका था. ग्रामीणों ने उनकी गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया था. इसी को लेकर कोर्ट ने आरोपियों को सजा सुनाई है.

इसे भी पढ़े- भूमि अधिग्रहण बिल पर विपक्ष ने फूंका बिगुल, हेमंत ने कहा – जनता पर थोपा जा रहा काला कानून

इन लोगों को मिली सजा

इस मामले में भागीरथी ज्योतिषी, बड़ाकान्हु ज्योतिषी, कुंदां ज्योतिषी, फाल्गुनी ज्योतिषी, कृष्णा ज्योतिषी, कान्हु ज्योतिषी, अरुण ज्योतिषी, तरुण ज्योतिषी, चतुर्भुज साहू, सीताराम साहू, कृष्णा साहू व लालटू लोहार को सजा सुनाई गयी है.

15 लोगों के खिलाफ दर्ज की गयी थी प्राथमिकी

पीट-पीटकर हत्या मामले में कुल 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था. जिसपर सोमवार को फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने धारा 147, 148, 149, 323, 353, 452,504 व 506 के तहत 12 लोगों को दोषी करार दिया. वहीं तीन लोगों को सबूत के अभाव में बरी कर दिया.

इसे भी पढ़े- आरटीआई से ना सूचना देंगे और ना भ्रष्टाचार होगा उजागर

इन्हें बरी किया गया

पंकज कुमार नाग, लक्ष्मीकांत बेहरा व अगस्ती साहू को कोर्ट ने सबूतों के अभाव में बरी कर दिया.

इन्होंने दर्ज करायी थी प्राथमिकी

मामले को लेकर तत्कालीन सीओ राजीव नीरज ने राजनगर थाने में भीड़ द्वारा सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, नाजायज मजमा लगाने, साथ ही गाड़ियों को जलाने को लेकर 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था.

इसे भी पढ़े- साईनाथ, राय और इक्फाई यूनिवर्सिटी के कुलपति की योग्यता यूजीसी गाइडलाईन के अनुरूप नहीं

क्या था पूरा मामला

वर्ष 2017 के 18 मई को राजनगर के शोभापुर में बच्चा चोरी की अफवाह उड़ी थी. इसे लेकर ग्रामीणों ने चार लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. साथ ही गांव के ही मुर्तजा अंसारी नाम के व्यक्ति के घर में जबरन घुस गए. उसके घर में तोड़फोड़ की गयी. और उसके रिश्तेदार मो. नईम को पीटकर अधमरा कर दिया था. जिसके बाद अस्पताल ले जाते वक्त नईम की रास्ते में ही मौत हो गयी. पुलिस के साथ ही धक्का-मुक्की की गयी और उनकी गाड़ी को आग के हवाले कर दिया था. साथ ही उपद्रव भीड़ ने नईम की कार को भी आग लगा दी थी.

इसे भी पढ़े- जहर खाकर मरी लड़की के पिता से पुलिस ने वसूले 15 हजार!

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: