National

कर्नाटक में कोरोना वायरस के 12 नए मामले, मेघालय में दो और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि

Bangalore :  कर्नाटक में शनिवार को कोरोना वायरस के 12 नए मामले आने के साथ ही संक्रमितों की संख्या 371 पर पहुंच गयी है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इनमें से 13 लोगों की मौत हो गयी और 92 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी.

विभाग ने अपने दैनिक बुलेटिन में कहा, ‘‘17 अप्रैल को शाम पांच बजे से 18 अप्रैल को दोपहर 12 बजे तक संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए.’’

इसमें बताया कि नए मामलों में से तीन मैसुरु से, दो-दो कलबुर्गी और बागलकोट से तथा एक-एक मामला विजयपुरा, हुब्बाली-धारवाड, बेलागवी में हीरेबागेवाड़ी, गडग और मांड्या जिले में मालावल्ली से सामने आए.

विभाग ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में स्वेच्छा से सेवा देने वाले डॉक्टरों से सरकार से संपर्क करने की अपील की है.

इसे भी पढ़ेंः #Lockdown2 के बीच घर लौटने की बेबसी: 1500 किमी साइकिल चलाकर महाराष्ट्र से रांची पहुंचे गोड्डा के 14 मजदूर

मेघालय में दो और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि, अब भी 10 लोग संक्रमित

इधर, मेघालय में शनिवार को दो और लोग कोविड-19 की जांच में संक्रमित पाए गए. मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने बताया कि राज्य में अब भी 10 लोग संक्रमण की चपेट में हैं. एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में कुल मामलों की संख्या 11 है.

संगमा ने बताया कि दोनों नये मामले राज्य के पहले कोविड-19 मरीज यानि उस डॉक्टर से जुड़े हुए हैं जिसकी बुधवार को मौत हो गयी थी.

उन्होंने ट्वीट किया, “दो और लोगों में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद राज्य में कुल 10 लोग अब भी संक्रमित हैं. दोनों मामले पहले मरीज के घर से जुड़े हुए हैं, एक परिवार का सदस्य है जबकि दूसरा व्यक्ति घर का सहायक है.”

डॉक्टर (69) में कोविड-19 की पुष्टि सोमवार को हुई थी. अब भी संक्रमित 10 लोगों में से आठ डॉक्टर के परिवार के सदस्य और दो उनके घरेलू सहायक हैं.

इसे भी पढ़ेंः मध्यप्रदेश:  मस्जिद में जमा होकर अदा कर रहे थे नमाज, पुलिस को देखकर कई भागे, कई को पुलिस पीटते हुए ले गयी  

अमरावती में 17 वर्षीय किशोर संक्रमित पाया गया

इधर, महाराष्ट्र के अमरावती जिले में शनिवार को 17 वर्षीय किशोर में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या छह पहुंच गयी .

एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. कलेक्टर शैलेश नवल ने बताया कि किशोर एक रिक्शाचालक का बेटा है. रिक्शा चालक की जांच रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई थी जिसके दो दिन बाद उसकी मौत हो गयी.

उन्होंने बताया कि किशोर नूरानी स्क्वायर का रहने वाला है. उसमें संक्रमण की पुष्टि होने के बाद पूरे इलाके को सील कर संक्रमणमुक्त किया गया. अधिकारी किशोर के संपर्क में आने वाले लोगों का पता लगा रहे हैं.

उन्होंने बताया कि नूरानी स्क्वायर को भी जिला प्रशासन ने संक्रमण प्रभावित क्षेत्र के रुप में चिन्हित किया है. इसके पहले हाथीपुरा को संक्रमण प्रभावित क्षेत्र मानकर सील कर दिया गया था. हाथीपुरा में कोरोना वायरस से दो अप्रैल को एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी.

कोविड-19 संक्रमण से मरने वाले मृतक के चार परिजनों का अस्पताल में उपचार चल रहा है. प्रशासन जिले के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू में ढील देने की सोच ही रहा था कि शनिवार को नया मामला सामने आने के बाद प्रशासन की चिंता बढ़ गयी है.

इसे भी पढ़ेंः आप हिंदू-मुसलिम करते रहें, पर मैं इस इत्तेफाक का क्या करूं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button