NEWS

30 वाटर टेस्टिंग लैब में आउटसोर्सिंग से रखे जायेंगे 118 क्वालिटी मैनेजर व सपोर्टिंग स्टाफ

Ranchi: राज्य के सभी वाटर टेस्टिंग लैब में मैनपावर रखा जाना है. पेयजल एवं स्वच्छता विभाग ने इसके लिये प्रक्रिया शुरू कर दी है. कुल 118 पदों पर बहाली की जानी है. इनमें केमिस्ट (क्वालिटी, टेक्निकल मैनेजर), माइक्रोबायोलॉजिस्ट, लैब एनालिस्ट, लैब असिस्टेंट, लैब अटेंडेंट, स्टोर एग्जीक्यूटिव, सैंपल रिसीवर सहित अन्य पोस्ट शामिल हैं.

ये नियुक्तियां कॉन्ट्रैक्ट पर होनी हैं. लोगों को नियुक्त करने के लिए आउटसोर्स कंपनियों से मदद मांगी गयी है. इसके लिये टेंडर भी जारी किया गया है. जो भी कंपनियां इसमें इच्छुक होंगी, उन्हें 18 सितंबर तक पीएमयू (प्रोग्राम मैनेजमेंट यूनिट, पेयजल विभाग) में चीफ इंजीनियर के पास आवेदन करना होगा.

इसे भी पढ़ें – दिल का दौरा पड़ने से स्वामी अग्निवेश का निधन, लंबे समय से थे बीमार

स्टेट से लेकर सब डिवीजनल स्तर पर नियुक्ति       

पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अनुसार राज्य में एक राज्य स्तरीय वाटर टेस्टिंग लैब है. इसके अलावा सभी जिलों के साथ-साथ पांच सब डिवीजनल स्तर पर भी लैब हैं. जो भी मैनपावर कंपनी उपलब्ध करायेगी, उन्हें इन्हीं लैबों में वाटर टेस्टिंग संबंधी कामों में लगाया जायेगा. कंपनी जिनका चयन करेगी, उन्हें इएसआइ और जीपीएफ तथा अन्य सुविधाएं भी देगी. 

राज्य स्तरीय लैब के लिए इनकी है जरूरत

पेयजल विभाग के अनुसार राज्य स्तरीय वाटर टेस्टिंग लैब में अलग अलग पदों के लिये 9 लोगों की जरूरत है. इनमें केमिस्ट (क्वालिटी मैनेजर), केमिस्ट (टेक्निकल मैनेजर), माइक्रोबायोलॉजिस्ट, लैब एनालिस्ट, लैब असिस्टेंट, लैब अटेंडेंट, स्टोर एग्जीक्यूटिव, सैंपल रिसीवर और सैंपल टेकर (हेल्पर) के पदों पर योग्य लोगों को रखा जायेगा. इन सभी पदों के लिये 1-1 पद निर्धारित किया गया है.

इसे भी पढ़ें – FCI के गोदाम से गायब 420 बोरा सरकारी चावल बरामद, पर खुलासे से इनकार करती रही पुलिस

जिला स्तर के लिये 99 पोस्ट

राज्य के 6 जिलों में हर लैब में 5-5 लोगों की आवश्यकता है. हजारीबाग, मेदिनीनगर, दुमका, धनबाद, साहिबगंज और जमशेदपुर के लैबों में केमिस्ट (माइक्रोबायोलॉजिस्ट, क्वालिटी मैनेजर), केमिस्ट (माइक्रोबायोलॉजिस्ट, टेक्निकल मैनेजर), लैब असिस्टेंट, सैंपल रिसीवर और सैंपल टेकर (हेल्पर) को रखा जाना है.

इसके अलावा गढ़वा, चतरा, पश्चिमी सिंहभूम (चाइबासा), गिरिडीह, रामगढ, देवघर के लैबों में भी इन्हीं पदों पर नियुक्ति की जानी है. इन जिलों में हरेक लैब के लिये 6 पद तय किये गये हैं. राज्य के बाकी 11 जिलों में केमिस्ट (माइक्रोबायोलॉजिस्ट), लैब, असिस्टेंट और सैंपल टेकर के 3-3 पदों पर यानि कुल 33 पदों पर सेलेक्टेड लोगों से काम लिया जायेगा. 

सब डिवीजनल स्तर पर भी टेस्टिंग सुविधा

पेयजल विभाग राज्य में सब डिवीजनल स्तर पर भी वाटर टेस्टिंग लैब संचालित करने लगा है. पांकी, नगर उंटारी, बरवाडीह, पतरातू और राजमहल में भी स्थानीय लोग इसका लाभ उठा रहे हैं. विभाग इन पांचों जगहों के लैब के लिये एक-एक केमिस्ट (माइक्रोबायोलॉजिस्ट) और एक-एक सैंपल टेकर की सेवाएं लेगा.

इसे भी पढ़ें –सुदर्शन चैनल के ‘यूपीएससी जिहाद’ कार्यक्रम के प्रसारण को सूचना और प्रसारण मंत्रालय की हरी झंडी

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: