न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

1 अप्रैल 2019 से 11,000 अप्रशिक्षित पारा शिक्षकों की हो जायेगी सेवा समाप्त

3,229

Ranchi: झारखंड में लगभग 11,000 अप्रशिक्षित पारा शिक्षकों की सेवा समाप्त हो जायेगी. इन शिक्षकों से एक अप्रैल से सेवा नहीं ली जायेगी. आरटीई एक्ट के अनुसार ऐसे शिक्षक जो अप्रशिक्षित हैं, वे बच्चों को शिक्षा नहीं दे सकते हैं. अनट्रेंड पारा शिक्षकों को एनआईओएस से प्रशिक्षण लेना अनिवार्य है. ऐसे पारा शिक्षकों के लिए 31 मार्च 2019 तक एनआईओएस से प्रशिक्षण प्राप्त कर लेना अनिवार्य है. अन्यथा 1 अप्रैल 2019 से अनट्रेंड पारा शिक्षकों की सेवा समाप्त हो जायेगी. शिक्षा सचिव एपी सिंह ने बताया कि विभाग द्वारा पारा शिक्षकों को ट्रेंड किया जा रहा है. लेकिन अब भी लगभग 11,000 पारा शिक्षक अनट्रेंड हैं, इन्हें निकालना पड़ सकता है. इनमे प्राथमिक स्तर पर अप्रशिक्षित पारा शिक्षकों की संख्या 7201 और उच्च प्राथमिक स्तर पर 3711 शिक्षक हैं. एपी सिंह ने बताया कि पारा शिक्षकों के मांग को देखते हुए कमिटी का गठन किया गया था. कमेटी ने पारा शिक्षकों द्वारा बताये गये राज्यों का अध्ययन किया था. जिसमें छत्तीसगढ़ में कार्यरत पारा शिक्षकों का भी अध्ययन किया गया था. छत्तीसगढ़ में एक भी अनट्रेंड शिक्षक नहीं हैं.

कल्याण कोष में 10 करोड़ देगी सरकार

पारा शिक्षकों के कल्याण के लिए सरकार ने कल्याण कोष का गठन किया है. इसमें पारा शिक्षकों के जरुरत के समय मदद के लिए 10 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया गया है. लेकिन पारा शिक्षकों के मन में यह भय बना हुआ है कि उन्हीं के मानदेय से प्रति महीने 200 रुपये की कटौती कर कल्याण कोष में दिया जायेगा. लेकिन इस विषय पर शिक्षा मंत्री नीरा यादव से बात करने पर उन्होंने बताया कि शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से वार्ता करने के बाद ही यह निर्णय लिया गया था. इसमे सिर्फ उन्हीं पारा शिक्षकों के मानदेय में कटौती होगी जो स्वत: कल्याण कोष में 200 रुपये देने के लिए अनुमति देंगे. सभी पारा शिक्षकों के मानदेय में कटौती करने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

67082 पारा शिक्षकों में 10912 अप्रशिक्षित

झारखंड में 67082 पारा शिक्षक है. जो विभिन्न जिलों के स्कूलों में बच्चों को शिक्षा देते हैं. लेकिन बीते 39 दिन से पारा शिक्षक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है. ऐसे में बच्चों की शिक्षा व्यवस्था चरमराई हुई है.

प्राथमिक स्तर पर

कोटि                        पारा शिक्षकों की संख्या

प्रशिक्षित एवं टेट पास          9169

केवल प्रशिक्षित                  34560

अप्रशिक्षित                       7201

 

उच्च प्राथमिक स्तर

प्रशिक्षित एव टेट पास         4249

केवल प्रशिक्षित                 8192

अप्रशिक्षित                       3711

कुल                                67082

इसे भी पढ़ें: कुणाल के ‘बपौती’ शब्द के इस्तेमाल पर, प्रतुल ने कहा- यही है जेएमएम का ‘राजनीतिक चरित्र’

इसे भी पढ़ें: सरकार ने पारा शिक्षकों से कहा- 26 को करें वार्ता, हड़ताल खत्म होने से होगी सबकी भलाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: