JharkhandLead NewsRanchi

तमिलनाडु से पश्चिमी सिंहभूम की 11 युवतियां वापस लायी गयीं

काम के बकाया पैसे भी मिले

Ranchi : पश्चिमी सिंहभूम की 11 युवतियां तमिलनाडु के त्रिपुर से वापस झारखंड लौट आयी हैं. सभी त्रिपुर में केपीआर 3 कंपनी में काम करने गयी थीं, लेकिन वहां भाषा की समस्य़ा होने पर उन्हें काम करने में परेशानी होने लगी. इसके बाद युवतियों ने वापस आने के लिए श्रम विभाग के अन्तर्गत राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष से मदद मांगी.

मामले की जानकारी मिलने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने श्रम विभाग और नियंत्रण कक्ष को युवतियों को वापस लाने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें :हेमंत की शिकायतों पर केंद्र गंभीर- नीति आयोग, कोयला, ऊर्जा और जल शक्ति मंत्रालय से होगी वार्ता, 7 अक्टूबर तक मांगा प्रपोजल

Catalyst IAS
ram janam hospital

नियंत्रण कक्ष ने केपीआर 3 कंपनी के मैनेजर से बात कर युवतियों के वापस आने की व्यवस्था करायी. 3 अक्तूबर को युवतियां त्रिपुर से झारखंड के लिए चलीं.

The Royal’s
Sanjeevani

सभी 5 अक्तूबर को वापस झारखंड (चक्रधरपुर) पहुंचीं. युवतियों ने जितने दिन त्रिपुर में काम किया था, उसका मेहनताना कुल 90,200 रुपये का भुगतान भी उन्हें किया गया. प्रत्येक युवती को 8200 रुपये मिले.

इसे भी पढ़ें :गिरिडीह में 24.50 करोड़ की लागत से नये म्यूनिसिपिल बिल्डिंग का होगा निर्माण

Related Articles

Back to top button