JharkhandNEWS

स्वास्थ्य कर्मियों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि पर खर्च होंगे 103 करोड़, इसी माह राशि देने का आदेश जारी

Ranchi : राज्य सरकार की ओर से कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग, टेस्टिंग, सुपरविजन, कोविड अस्पताल, कोविड वार्ड, कार्यालय तथा कोविड कंट्रोल रूम में प्रतिनियुक्त चिकित्सा कर्मियों तथा डॉक्टर्स को एक माह के मूल वेतन के अलावा प्रोत्साहन राशि दने का निर्णय लिया है. 17 मार्च को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अभियान निदेशक की अध्यक्षता में हुई बैठक में प्रोत्साहन राशि देने की अनुशंसा की गयी.

इसे भी पढ़ें: Bengal Vote Counting : बाबूल सुप्रियो, लॉकेट चटर्जी और राजीव बनर्जी सहित भाजपा के कई दिग्गज चल रहे हैं पीछे

advt

इस बाबत अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की ओर से एक पत्र जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग, टेस्टिंग, सुपरविजन, कोविड अस्पताल, कोविड वार्ड, कार्यालय तथा कोविड कंट्रोल रूम में प्रतिनियुक्त चिकित्सा कर्मियों तथा डॉक्टर्स को अप्रैल माह के मूल वेतन के अनुसार प्रोत्साहन राशि दी जायेगी. पत्र में यह भी कहा गया है कि वैसे कर्मी जिन्होंने अपने दायित्व का निर्वहन नहीं किया है उन्हें यह राशि नहीं मिलेगी. यह राशि किन कर्मियों को मिले इसके चयन की जिम्मेदारी संबंधित कार्यालय प्रमुख की होगी.

इसे भी पढ़ें: नहीं रहीं सामाजिक कार्यकर्ता और एपवा की कनक, रिम्स के ट्रामा सेंटर में अभी-अभी मौत

बताते चलें कि स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत काम करने वाले डॉक्टर्स, स्वास्थ्य कर्मी, विभागीय कर्मियों के अलावा अन्य कर्मियों को वितीय वर्ष 2021-22 में जो बजट विभाग को दिया गया है उससे प्रोत्साहन राशि दी जायेगी. वहीं एनआरएचएम के अधीन कार्यरत डॉक्टर्स और एनी स्वास्थ्य कर्मियों को राज्य सरकार की और से राशि दी जायेगी. इसके लिए लगभग 103 करोड़ रोये खर्च होने का अनुमान लगाया गया है. इस आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू किया गया है.

इसे भी पढ़ें: बंगाल में स्वर्गीय प्रत्याशी मतगणना में आगे, जानिये- वो कौन हैं  

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: