Corona_UpdatesNational

कैंसर से जूझ रही 100 साल की महिला ने दी कोरोना को मात, घर में हुआ इलाज

विज्ञापन

Khargon. मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में कैंसर से जूझ रही एक 100 वर्षीय महिला ने कोरोना को मात दी है. बड़ी बात ये है कि महिला का इलाज उसके घर में ही हुआ और उसके परिवार के अन्य लोगों को संक्रमण भी नहीं फैला. बुजुर्ग महिला अपने घर में 14 दिन चले इलाज के बाद कोविड-19 को सोमवार को मात दे दी है. वह इस महामारी से उबरने वाले देश के सबसे उम्रदराज मरीजों की सूची शामिल हो गई हैं.

जुलाई में हुई थीं संक्रमित
बीएमओ अनुज ने बताया कि बड़वाह कस्बे में रहने वाली उम्रदराज महिला रुक्मिणी चौहान जांच में 21 जुलाई को कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई थीं. उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे. लिहाजा हमने उन्हें उनके घर पर अलग रहकर इलाज का फैसला किया.

इसे भी पढ़ें- Giridih: 35 लोग स्वस्थ्य होकर लौट, 10 दिनों बाद दूसरी रिपोर्ट आई निगेटिव

advt

ऐसे हुआ इलाज
परिवार के लोगों ने बताया कि उनकी उम्र 100 साल से ज्यादा है. वह अंडाशय के कैंसर से जूझ रही हैं और पिछले 5 साल से बीमार हैं. बीएमओ ने बताया कि वृद्धा को कोविड-19 की दवाएं और आयुर्वेदिक काढ़ा देने के साथ उनके शरीर में ऑक्सीजन के स्तर, तापमान और अन्य स्वास्थ्य सूचकांकों की नियमित अंतराल में जांच की जाती रही.

स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि तय प्रोटोकॉल के तहत सेहत की जांच के बाद हमने रुक्मिणी को सोमवार को कोविड-19 के संक्रमण से मुक्त घोषित कर दिया. फिलहाल उन्हें इस महामारी से जुड़ी कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या नहीं है. इससे पहले इंदौर की 95 साल की महिला भी मई में कोविड-19 को मात दे चुकी हैं.

कैसे हुईं संक्रमित
बुजुर्ग संक्रमित कैसे हुईं, जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने बताया कि बड़वाह के नजदीक के एक शराब कारखाने में उनका पोता कामा करता है, जो पिछले महीने कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था. ऐसे में पूरी संभावना है कि वह अपने पोते के संपर्क में आने से संक्रमित हो गईं.

adv
advt
Advertisement

9 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button