न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

होल्डिंग टैक्स ऑनलाइन जमा करने पर 10 प्रतिशत की छूट

2,168

Ranchi: वर्ष 2019 के दौरान होल्डिंग टैक्स देने के एवज में रांची नगर निगम शहरी निकाय के लोगों को विशेष छूट देगा. नगर विकास सचिव ने अजय कुमार सिंह ने कहा है कि इऩ क्षेत्रों में रहने वाले अगर ऑनलाइन होल्डिंग टैक्स जमा करते हैं, तो उन्हें 10 प्रतिशत की छूट दी जायेगी. विभाग ऐसा डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिए कर रहा है. साथ ही ऐसे लोगों, को जिनके घर पर वाटर हार्वेस्टिंग की सुविधा नहीं है, को भी रियायत देने की बात कही गयी है. हालांकि ऐसे लोगों को निकायों में एक शपथ पत्र भी दाखिल करना होगा. सत्य पाये जाने पर निकाय इन लोगों पर किसी तरह का कोई दंड आरोपित नहीं करेगा.

नगर निगम की वेबसाइट पर जमा करना होगा टैक्स

सचिव के मुताबिक वैसे होल्डिंगधारी जिनका होल्डिंग टैक्स बकाया है, उन्हें ही ऑनलाइन टैक्स भरने पर विभाग विशेष छूट देगा. यह छूट 10 प्रतिशत की होगी. इसके लिए शर्त होगी कि बकायेदारों को नगर निगम की वेबसाइट पर जाकर होल्डिंग टैक्स का भुगतान करना पड़ेगा. यह छूट एक वर्ष का होल्डिंग टैक्स एक साथ भरने पर ही मिलेगी. जो भी बकायेदार एक साल का होल्डिंग टैक्स ऑनलाइन भरेंगे उनको तत्काल 10 प्रतिशत का रिबेट मिल जाएगा. ऐसे में चालू वर्ष में बहुत सारे लोगों को इसका तत्काल लाभ मिलने की बात कही गयी है.

कुछ और रियायतें देने का भी हुआ फैसला 

इसके अलावा यदि किसी उपभोक्ता के द्वारा होल्डिंग कर का भुगतान अनुसूचित बैंकों,  इलेक्ट्रॉनिक्स संग्रह केंद्र अथवा संबंधित शहरी स्थानीय निकाय के काउंटर पर किया जाता है तो होल्डिंग धारियों को ढाई प्रतिशत की रियायत दी जायेगी. यदि किसी होल्डिंग टैक्स का त्रैमासिक या उससे अधिक अवधि का भुगतान ऑनलाइन किया जाता है, तो होल्डिंग धारियों को 5% की रियायत दी जायेगी.

नवगठित शहरी निकायों में भी मिलेगी छूट 

मालूम हो कि हाल के दिनों में नगर विकास और आवास विभाग द्वारा अऩेक नए शहरी नगर निकायों का गठन किया गया है. इन निकायों में होल्डिंगधारियों को राहत देने के लिए भी विभाग ने एक बड़ी पहल की है. कहा गया है कि उक्त सभी नवगठित शहरी स्थानीय निकाय, ग्रामीण क्षेत्रों से अचानक नगर पालिका क्षेत्रों में शामिल किए गये हैं. साथ ही उऩ्हें अन्य निकाय के समान आधारभूत सुविधा उपलब्ध नहीं करायी गयी है. ऐसी स्थिति में इन आवासों से चालू वर्ष (2018-19) में होल्डिंग की वसूली नहीं की जायेगी.

वाटर हार्वेस्टिंग नहीं रखने पर छूट का निर्देश 

साथ ही वाटर हार्वेस्टिंग सुविधा नहीं रखने वाले होल्डिंग धारियों को विशेष सुविधा देने का निर्देश विभाग के तरफ से दी गयी है. पूर्व से निर्मित 300 वर्ग मीटर तक में स्थान की कमी के कारण वाटर हार्वेस्टिंग की सुविधा मुश्किल है. ऐसे में इन होल्डिंगधारियों को अपने-अपने शहरी स्थानीय निकायों में एक शपथ पत्र दाखिल करना होगा. शपथ पत्र दाखिल करने के बाद निकायों की तकनीकी समिति ऐसे आवासों की जांच करेगी. होल्डिंगधारियों किये गये दावे में किसी तरह की कोई विसंगति पायी जाती है, डेढ़ गुणा होल्डिंग कर वसूलने की बात विभाग द्वारा कही गयी है.

इसे भी  पढ़ेंः मंडल डैम का निर्माण होने से पलामू एवं गढ़वा के किसानों को पहुंचेगा सीधा लाभ : रघुवर दास

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: