न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एमिटी विवि को सरकार कोर कैपिटल एरिया में उपलब्ध करायेगी 10 एकड़ जमीन

33
  • स्थापना के ढाई वर्ष बाद भी एमिटी विवि प्रबंधन ने नहीं बनाया अपना कैंपस
  • रांची में किराये के भवन में चल रहा है एमिटी विवि

Ranchi : झारखंड सरकार एमिटी विश्वविद्यालय को कोर कैपिटल एरिया में 10 एकड़ जमीन उपलब्ध करायेगी. यह जमीन विश्वविद्यालय परिसर की स्थापना के लिए दी जायेगी. ग्रेटर रांची विकास प्राधिकरण की ओर से आयोजित बैठक में एचईसी कोर कैपिटल एरिया में सरकारी विभागों, कार्यालयों, संस्थानों के लिए जमीन की मांग पर यह निर्णय लिया गया. जमीन चिह्नितीकरण और आवंटन समिति की बैठक में राजस्व, निबंधन और भूमि सुधार विभाग के सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी और ई-गवर्नेंस विभाग के सचिव, उपायुक्त रांची और ग्रेटर रांची विकास प्राधिकरण के प्रबंध निदेशक शामिल हुए. बैठक में तय किया गया कि एमिटी विश्वविद्यालय को जमीन का आवंटन शुल्क के साथ किया जायेगा. शुल्क का निर्धारण राजस्व, निबंधन और भूमि सुधार विभाग की तरफ से किया जायेगा.

2016 में सरकार ने एमिटी यूनिवर्सिटी एक्ट को लेकर जारी की थी अधिसूचना

झारखंड सरकार के उच्च और तकनीकी शिक्षा विभाग की तरफ से एमिटी यूनिवर्सिटी एक्ट की अधिसूचना 13 मई 2016 को जारी की गयी थी. जारी अधिसूचना में कहा गया था कि दो वर्षों के अंदर एमिटी विश्वविद्यालय को कम से कम 10 एकड़ और अधिकतम 25 एकड़ में अपना नया कैंपस बनाना होगा. इसमें मुख्य परिसर 10 एकड़ का होगा. 25 एकड़ के कैंपस में एकीकृत कैंपस बनाना होगा, जिसमें प्रशासनिक भवन, कैफेटेरिया, छात्रावास, स्टाफ क्वार्टर, कुलपति आवास और अन्य भवन शामिल होंगे. इतना ही नहीं अस्थायी व्यवस्था के तहत 1000 वर्ग मीटर का प्रशासनिक भवन और 10000 वर्ग मीटर का शैक्षणिक भवन, पुस्तकालय, व्याख्यान कक्ष, प्रयोगशाला और अन्य भवन का होना अनिवार्य किया गया था. यह एमिटी यूनिवर्सिटी एक्ट-2016 में लिखित है.

ढाई वर्ष से अस्थायी कैंपस में चल रहा है एमिटी विवि

पिछले ढाई वर्ष से एमिटी विश्वविद्यालय, रांची अस्थायी कैंपस में चल रहा है. राजधानी के निवारणपुर और महात्मा गांधी रोड में दो व्यावसायिक कॉम्प्लेक्स में विश्वविद्यालय का प्रशासनिक भवन संचालित हो रहा है. यहां से इंजीनियरिंग, स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रम, जर्नलिज्म एंड मास कम्यूनिकेशन समेत सात पाठ्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं. विवि का दावा है कि एमिटी में 17 सौ से अधिक छात्र-छात्राएं हैं.

इसे भी पढ़ें- देखिए वीडियो में कैसे प्रैक्टिकल परीक्षा के नाम पर छात्रों से प्रार्चाय और प्रोफेसर वसूल रहे पैसे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: