न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रेल यात्रियों का कारनामा, ट्रेनों से 1.95 लाख तौलिये, 81,736 चादरें, 7,043 कंबल, 5,038 तकिये गायब

रेलवे यात्रियों के लिए यह शर्मसार करनेवाली खबर है. पिछले साल लंबी दूरी की ट्रेनों से 1.95 लाख तौलिये, 81,736 चादरों के अलावा 5,038 तकिये, 55,573 तकियों के खोल 7,043 कंबल गायब हो गये.

163

NewDelhi : रेलवे यात्रियों के लिए यह शर्मसार करनेवाली खबर है. खबर है कि पिछले साल लंबी दूरी की ट्रेनों से 1.95 लाख तौलिये, 81,736 चादरों के अलावा 5,038 तकिये, 55,573 तकियों के खोल 7,043 कंबल गायब हो गये. यानी चुरा लिये गये. इसके अलावा 200 टॉयलेट मग, 1000 नल और 300 से ज्यादा फ्लश पाइप पर भी हाथ साफ कर लिया गया. बता दें कि यह आंकड़ा रेलवे ने हाल में जारी किया है.  रिपोर्ट कहती है कि टॉयलेट मग, सीलिंग फैन, बिस्तर, तकिये और तकियों के खोल की चोरी उन यात्रियों की पसंद में पहले नंबर पर बनी हुई है,  जो सार्वजनिक चीजों को चुराने में शर्म महसूस नहीं करते.

इसे भी पढ़ें :   SC से चुनाव आयोग ने कहा, कांग्रेस ने फर्जी वोटर लिस्ट पेश की, सजा दी जाये  

तीन वित्त वर्षों में भारतीय रेलवे को 4,000 करोड़  का नुकसान हुआ

मीडिया में आयी खबरों के अनुसार  2017-18 में रेलवे सुरक्षा बल यानी आरपीएफ ने चोरी का जो सामान बरामद किये, वह 2.97 करोड़ के थे. चुराये गये सामानों में शॉवर्स, वॉशरूम जैसे सामान भी शामिल थे. सेंट्रल रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुनील उदासी ने  पत्रकारों को बताया कि वर्ष 2018 मेंअप्रैल से सितंबर के बीच 79,350 हाथ के तौलिये, 27,545 चादरें, 21,050 तकियों के खोल, 2,150 तकिये और 2,065 कंबल चोरी हो गये. इसकी कीमत लगभग 62 लाख रुपये आंकी गयी. रिपोर्ट के अनुसार पिछले तीन वित्त वर्षों में भारतीय रेलवे को 4,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: