Uncategorized

साहिबगंज : डीएसपी समेत पुलिस फोर्स को ग्रामीणों ने किया मुक्त, 4 लोग गिरफ्तार

NEWS WING

Sahebganj, 18 September : साहिबगंज में डीएसपी ललन प्रसाद अौर पुलिस फोर्स को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया है. घटना रविवार की रात की है. सुबह के 10:30 बजे  ग्रामीणों ने डीएसपी अौर पुलिस फोर्स को मुक्त किया है. ग्रामीण इस बात से अाक्रोशित हैं कि पुलिस ने हत्या के अारोपियों को छोड़ दिया. हत्या के अारोपियों को ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस को दिया था. पुलिस द्वारा उन्हें छोड़े जाने से ग्रामीण अाक्रोशित हैं.

क्या हैं पूरा मामला
मामला 2 सितम्बर की है आसाम के रहने वाले डनसन ने पागडो की रहने वाली होपनमय मुर्मु से प्रेम विवाह किया था , वह आसाम से 2सितम्बर को अपने ससुराल आया था जहां अगले दिन उसकी मौत हो गयी. घटना की सूचना मृतक की पत्नी की बहन ने अदरो मुर्मु ने गांव की प्रधान गीता रानी हेम्ब्र्म की दी और बताया की रात में इसके पेट मे दर्द हुआ और ये मर गया. गांव वालों ने डलसन की स्थानीय कब्रिस्तान में उसका अंतिम संस्कार कर दिया.

Catalyst IAS
ram janam hospital

बीमारी से नहीं मरा

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

घटना के सात दिन बाद मृतका की पत्नी ने 10 sept को गांव की प्रधान गीता रानी हेम्ब्रम को जानकारी दी कि उसका पति बीमारी से नहीं मरा, उसने फांसी लगा लिया था.गांव की प्रधान ने इस बात की सुचना जीरवाबाडी थाना प्रभारी चंद्रशेखर सिंह को दी. थाना प्रभारी गांव पहुचे और घटना के विषय मे जानकारी जुटाने लगे.

मजीस्ट्रेट् की मौजूदगी कब्रिस्तान से निकला गया शव

12 सितम्बर को मजीस्ट्रेट् की मौजूदगी में शव को कब्रिस्तान से निकला गया और शव का पोस्टमार्टम कराया गया. पुलिस के बयान पर अज्ञात लोगो के विरुध्द हत्या की प्रथिमिकी दर्ज की गयी. 14 sept को ग्रामीणों ने पाँच लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया जिसमे,मृतका की पत्नी होपनमय मुर्मु उसकी बहन अदरो मुर्मु संझला हेम्ब्रम,मनकौ हांसदा  व झकू हेम्ब्र्म सभी पंगडो के रहने वाले थे.

ससुराल वालो ने की हत्या

ग्रामीणों ने आरोप लगाया की इन्ही लोगों ने मिलकर डलसन की हत्या की है. पुलिस ने सभी को हिरासत में लिया लेकिन दूसरे दिन सभी को छोड़ दिया. जिससे की ग्रामीण पुलिस से आक्रोशित हो गये. 17 sept को डलसन के परिजन पांडु मुर्मु व आनँद मुर्मु पागडो गाँव पहूँचे , पुलिस को जैसे ही इस बात की सुचना मिली अनूप लाल यादव अपने एक सहयोगी के साथ गांव में परिजन का बयान लेने पहुचे.

ग्रामीणों ने मुक्त किया पुलिस कर्मियों को

ग्रामीणों द्वारा दोनों को बंधक बनाने कि सूचना जब सदर डीएसपी ललन प्रसाद मिली तो वो गांव पहुचे. ग्रामीणों ने उन्हें भी बंधक बना लिया. ग्रामीणों की माँग थी कि जिन्हें पुलिस ने छोड़ दिया है उन्हें पुलिस अविलम्ब गिरफ्तार करे. तभी आपलोगो को छोड़ा जायेगा घटना की सूचना पर बरहेट थाना प्रभारी मनोज कुमार पुलिस निरक्षक सुनील टपनौ दल बल के साथ गांव पहूचे और चार लोगों को गिरफ्तार किया. पांडु मुर्मु के बयान पर कांड दर्ज किया गया गिरफ्तार लोगों को जेल भेजने की कारवाई की गयी.गिरफ़्तारी के बाद बंधक बनाये गए पुलिस कर्मियों को ग्रामीणों ने छोड़ा दिया.    

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button