Uncategorized

सड़क,गंदगी और पानी की समस्या से परेशान है वार्ड 46 के लोग, अब इन्हीं मुद्दों को लेकर चुनेंगे प्रतिनिधि

Ranchi : वार्ड 46 हाथीखाना, माली मुहल्ला, कटहल मुहल्ला, कुमहार टोली, बेलदार मुहल्ला, नौआ मुहल्ला, धोबी मुहल्ला यूनुस चौक से लेकर जैन मंदिर तक, ये वो जगह हैं जहां खराब सड़क, गंदगी और भरी हुई नाली रहना आम बात है. इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों में इन सभी समस्याओं को लेकर काफी रोष है. लोगों का कहना है कि उनके मुहल्ले में ना तो सड़क बनी है और ना ही कभी नालियों की साफाई करायी जाती है. लोगों का यह भी कहना है कि यहां पानी की समस्या भी काफी ज्यादा है. उनका कहना है कि जो भी चापाकल है उनका ठीक से रख-रखाव नहीं किया गया है जिसकी वजह से सारे चापाकल खराब हो गये हैं. सप्लाई पानी की व्यवस्था बहुत सी जगहों पर नहीं है और जहां है वहां इसके लिए भी कोई तय समय सीमा नहीं है. कभी रात के 12 बजे पानी आती है तो कभी रात के दो बजे जिसकी वजह से लोग पानी भर नहीं पाती है.  पार्षद की अगर बात की जाए तो वो यहां सिर्फ वोट के लिए आते हैं और वोट मिल जाने के बाद यहां झांकने तक नहीं आते. साफ-सफाई और सड़क तो बहुत दूर की बात है. लोगों का यह भी कहना है कि अब इन्हीं मुद्दों को लेकर हम अपना प्रतिनिधि चुनेंगे.

इसे भी पढ़ें- राज्यसभा चुनाव की जीत के बाद यूपीए बना रहा है रणनीति, झारखंड लोकसभा में गठबंधन कर बीजेपी को घेरने की तैयारी

ना बनी सड़क ना होती है सफाई

ram janam hospital
Catalyst IAS

डोरंडा स्थित यूनुस चौक से लेकर जैन मंदिर तक की सड़क खराब है. और भरी हुई नालियों के बारे आसिफ (स्थानीय) बताते हैं कि बीते कई सालों से यह सड़क खराब पड़ी हुई है. इधर की संर्कीण नालियों की वजह से अक्सर इसका पानी सड़कों आ जाता है. वहीं मो. हैदर का कहना है कि इधर ना सड़क बनी है और ना ही सफाई होती है. नालियों के पानी की वजह से बरसात में सड़क नदी बन जाता है. पार्षद को भी इस बात की शिकायत कर चुके हैं लेकिन पार्षद ने आश्वासन भी दिया था कि सड़क और नाली को जल्द बना दिया जाएगा. लेकिन पांच सालों में कुछ नहीं हुआ.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

 

ना बनी सड़क ना होती है सफाई

इसे भी पढ़ें- कर्नाटक विधानसभा चुनाव : आयोग से पहले सिर्फ बीजेपी ही नहीं बल्कि कांग्रेस के IT इंचार्ज श्रीवत्स ने भी किया तारीखों का एलान, कांग्रेस ने उठाया सवाल तो ट्विटर पर बना मजाक

नहीं होता है कचरे का उठाव

मिस्त्री मुहल्ला और धोबी टोला की शितल देवी और अनीता कहती हैं कि समय पर कभी भी कचरे का उठाव नहीं होता है. जब कुड़ा सड़क पर पसर जाता है, तब ही कचरा उठाने वाली गाड़ी आती है. इसे लेकर जब शिकायत करते हैं, तो किसी भी सफाईकर्मी की ओर से कोई जवाब नहीं दिया जाता है. यहां के लोगों कहना है कि पार्षद समस्याओं को देखने कभी नहीं आते हैं.

इसे भी पढ़ें- झारखंड सरकारी कर्मियों की बल्ले-बल्ले, निर्वाचन आयोग ने दी सातवें वेतनमान के लिए हरी झंडी, बढ़कर मिलेंगे कई भत्ते

पार्षद का पक्ष

जब हमने वार्ड नम्बर 46 के वार्ड पार्षद का पक्ष जानने के लिए फोन किया तो उन्होंने अपनी व्यस्तता का हवाला देकर बाद में कॉल करने की बात कह कर फोन रख दिया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button