Uncategorized

शौच जाती महिलाओं से छेड़खानी का विरोध करने पर नवादा में एक की हत्या, माले ने की निंदा

Patna : भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने नवादा में शौच जाती महिलाओं से छेड़खानी का विरोध करने पर राजो राजवंशी की हत्या की कड़ी निंदा की है और कहा है कि खुले में शौच से मुक्तिके नाम पर पूरे बिहार में आज दलितों-गरीबों पर हमला किया जा रहा है. भाजपा-जदयू ने इस अभियान के जरिए गरीबों पर हमला बोल दिया है. उन्होंने कहा कि नवादा के सिरदला प्रखंड के टिटहियांटांड़ के शराब कारोबारी यमुना यादव के नेतृत्व में होली की शाम दबंगों ने तारन गांव के महादलित टोले पर कहर ढाया. दबंगों ने लाठी-डंडे व रॉड से कई महिला-पुरुषों की जमकर पिटाई की, जिसमें रजवार जाति के राजो राजवंशी की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ें-  एनजीटी कोर्ट की टिप्पणीः राजबाला वर्मा ईमानदार नहीं, राम कृपाल कंस्ट्रक्शन को फायदा पहुंचाया, फिर भी सीएम रघुवर दास ने नहीं की कार्रवाई 

शौच जाती महिलाओं से छेड़खानी का विरोध करते थे  ग्रामवासी

ram janam hospital
Catalyst IAS

भाकपा-माले की जांच टीम ने पाया कि इस हमले के पीछे शौच जाती महिलाओं से छेड़खानी का मामला है. जब भी महिलाएं शौच कर रही होती थीं, दबंग सीटी बजाने लगते थे और उन्हें हर प्रकार से अपमानित करते थे. राजो राजवंशी सहित गांववासी इसका तीखा विरोध करते थे. होली की शाम में दलित-गरीब को सबक सिखाने के लिए दलित टोले पर हमला किया और 50 वर्षीय राजो राजवंशी की हत्या कर दी. हमले में दो महिला समेत 7 लोग बुरी तरह जख्मी हैं.  भाकपा-माले की जांच टीम में पार्टी नेता व नवादा जिला कमेटी सदस्य विनय पासवान, जिला कमेटी सदस्य एवं सिरदला सचिव रघुनी मांझी तथा राजेन्द्र राजवंशी शामिल थे.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी देखें-  केंद्रीय सूचना आयोग ने विदेश मंत्रालय से कहा, पीएम मोदी की विदेश यात्रा में इस्तेमाल चार्टर्ड विमान का बिल करें सार्वजनिक

खुले में शौच से मुक्ति के नाम हो रहा है दलितों पर हमला

भाकपा-माले ने कहा है कि खुले में शौच से मुक्ति के नाम पर चल रहा अभियान दलित-गरीबों पर हमले का अभियान साबित हो रहा है. जगह-जगह दलितों को निशाना बनाया जा रहा है. भाकपा-माले ने अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग की है और घायलों के समुचित इलाज की व्यवस्था की भी मांग की है.

इसे भी पढ़ेंः  366 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला हाईकोर्ट भवन का टेंडर आरके कंस्ट्रक्शन को देने के लिए दूसरी कंपनियों को गलत तर्क देकर अयोग्य बताया गया !

इसे भी पढ़ेंः मुख्य सचिव राजबाला मुश्किल में, आधार से राशन कार्ड जोड़ने का आदेश मामले में UIDAI ने दिया जांच कर कार्रवाई का निर्देश 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button