Uncategorized

शिवसेना की धमकी के बाद गुलाम अली का कार्यक्रम रद्द

मुंबई : शिवसेना की धमकी के बाद महाराष्ट्र में पाकिस्तानी गजल गायक उस्ताद गुलाम अली का कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। कार्यक्रम के आयोजकों और शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे के बीच बातचीत के बाद गुलाम अली के कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया। शिवसेना की फिल्म शाखा, चित्रपट सेना के महासचिव आदेश बांदेकर ने आईएएनएस से कहा, “कार्यक्रम होंगे लेकिन इसमें गुलाम अली भाग नहीं लेंगे। इस बारे में निर्णय आज शाम (बुधवार शाम) कार्यक्रम के आयोजकों और शिव सेना नेता उद्धव ठाकरे की बीच हुई बातचीत के बाद लिया गया।”

इससे पहले शिवसेना ने मुंबई और पुणे में होने वाले गुलाम अली के कार्यक्रम में बाधा डालने की धमकी दी थी।

आदेश बांदेकर ने कहा था, “हमने माटुंगा के षणमुखानंद प्रेक्षागृह के अधिकारियों से मुलाकात की और 9 अक्टूबर को प्रस्तावित कार्यक्रम रद्द करने के लिए कहा है। ऐसा नहीं होने पर हमने अपने चिर-परिचित अंदाज में विरोध करने की बात भी कही।”

advt

षणमुखानंद प्रेक्षागृह शिवसेना के पसंदीदा कार्यक्रम स्थलों में से एक है। पार्टी यहां अपने आयोजन करती रहती है।

अधिकारियों ने कहा कि मुंबई और पुणे के कार्यक्रम में गुलाम अली के शामिल होने से कानून व्यवस्था के लिए दिक्कत पैदा हो सकती है। यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह दुनिया भर में मशहूर कलाकार की सुरक्षा की जिम्मेदारी ले।

adv

आदेश बांदेकर ने कहा कि पार्टी दिवंगत गायक जगजीत सिंह की चौथी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि स्वरूप 10 अक्टूबर को पुणे में प्रस्तावित इसी तरह के संगीत कार्यक्रम का भी विरोध करेगी और उसे रोकेगी।

दिलचस्प है कि दोनों संगीत कार्यक्रम पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया में चर्चा के विषय बने हुए हैं। इनके सभी टिकट बिक चुके हैं।

बांदेकर ने कहा, “हम पाकिस्तान की कला और पाकिस्तानी कलाकारों की इज्जत करते हैं। लेकिन, हम पाकिस्तान के साथ किसी भी तरह के सांस्कृतिक संबंध के खिलाफ हैं क्योंकि यह देश सीमा पर लगातार हमारे नागरिकों और सैनिकों पर हमले कर रहा है।”

उन्होंने कहा कि शिवसेना सिर्फ मुंबई या पुणे ही नहीं, देश में कहीं भी गुलाम अली का कार्यक्रम नहीं होने देगी।

इससे पहले शिवसेना पाकिस्तानी क्रिकेट टीम और पाकिस्तानी गायक आतिफ असलम का विरोध कर चुकी है।

पार्टी ने मंगलवार को अपने मुखपत्र सामना में केंद्र सरकार से आग्रह किया था कि वह भारतीय फौजियों और नागरिकों पर पाकिस्तानी हमले का जवाब देने का हौसला दिखाए।

जगजीत सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए ‘एक अहसास’ नाम से कार्यक्रम देश में पेश किया जा रहा है। यह लोगों को संगीत के जरिए जोड़ने का एक मंच उपलब्ध करा रहा है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: