Uncategorized

शिक्षकों की मांग : पहले प्रोन्नति फिर कोई काम, प्रधानाध्यापकों को डीडीओ से मुक्त करने की साजिश का विरोध

Ranchi : अखिल झारखण्ड प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बिजेन्द्र चौबे महासचिव राममूर्ति ठाकुर व प्रदेश प्रवक्ता नसीम अहमद ने कहा कि मध्य विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को डीडीओ कार्य से मुक्त करने और जिला स्तर पर एक निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी रखने की मंशा से शिक्षा सचिव अमरेंद्र प्रताप सिंह ने एक कमिटी गठित की हैजिसका झारखंड के प्राथमिक शिक्षक विरोध करते हैंअखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ ने इसे शिक्षकों को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने वाला कदम बताया हैसंघ के अनुसार ज़िला स्तर पर एक डीडीओ होने से शिक्षकों को बार बार कार्यालय का चक्कर लगाने को मजबूर होना पड़ेगा, जो शिक्षकों को आर्थिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करेगाआज विभिन्न ज़िला कार्यालयों में शिक्षकों के असंख्य कार्य लंबित रहते हैंशिक्षकों के व्यक्तिगत कार्य और सेवानिवृति लाभों के लिए बिचौलिया प्रथा हावी हैऐसे में वेतन निकासी की तनावमुक्त और पारदर्शी व्यवस्था करना  विभाग के लिए एक यक्ष प्रश्न ही रहेगा.

इसे भी पढ़ें- रिम्स में होगी बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी की पढ़ाई, अगले सत्र से शुरू होगा नामांकन 

शिक्षकों को परेशान कर रहा विभाग

ram janam hospital
Catalyst IAS

एचआरएमएस के तहत ई-सेवा पुस्तिका का वेरीफाई कार्य ज़िला कार्यालय का था लेकिन सभी ज़िलों में इसे शिक्षकों के माथे सौंपकर येन केन प्रकारेण कराया जा रहा हैजिसमें शिक्षकों को कई बार कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ा हैसंघ का कहना है कि जब ये काम ज़िला कार्यालय नही कर सका तो प्रत्येक माह हज़ारों शिक्षकों का ससमय वेतन निकासी कर पाना स्वतः ही प्रश्न खड़े करता है. संघ का कहना है कि डीडीओ मामले में विभागीय सचिव बिहार की व्यवस्था का अध्ययन करने को इच्छुक हैंजबकि बिहार की तर्ज पर नियम शिथिलीकरण कर प्रधानाध्यापकों के रिक्त पदों को प्रोन्नति से भरने के मामले को अनसुना कर रहे हैंप्रोन्नति नियमावली संशोधन के लिए कमिटी गठित किए पांच माह का समय बीत गया लेकिन अभी तक कार्रवाई पूरी नही हुई. इससे स्पष्तः समझा जा सकता है कि विभाग शिक्षकों के हितों वाले विषय को नज़रंदाज़ कर नित नए ऐसे प्रयोग करना चाहता है जिससे शिक्षक परेशान होते रहें.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

 इसे भी पढ़ें- प्रोन्नति में आरक्षण : 22 मई को जारी आदेश पर रोक लगाने की अधिसूचना जारी

संघ के प्रदेश अध्यक्ष बृजेन्द्र चौबेमहासचिब राम मूर्ति ठाकुर,प्रवक्ता नसीम अहमद,  आदि ने कहा है कि ग्रीष्मावकाश के बाद विभाग के जिला स्तरीय एक डीडीओ की व्यवस्था के विरोध में राज्यव्यापी आंदोलन का आहवाहन किया जाएगाअब राज्य के शिक्षकों की एक ही मांग है- पहले प्रोन्नति फिर कोई काम.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button