Uncategorized

वॉकिंग जोन बनाने के फैसले से मेन रोड के दुकानदार नाराज, कहाः चैन से दुकानदारी करने दें, तुगलकी फरमान वापस ले सरकार

News Wing Ranchi, 28 October (Manish Jha) रांची के अल्बर्ट एक्का चौक से लेकर सुजाता चौक तक की सड़क को 15 नवंबर से वाकिंग जोन बनाने का फैसला सरकार ने लिया है. 15 नवंबर के बाद शाम पांच बजे से रात 10 बजे तक इस सड़क पर दो पहिया और चार पहिया वाहनों का परिचालन बंद किया जायेगा. सरकार के इस फैसले से बड़े व्यापारियों से लेकर छोटे व्यापारियों तक में आक्रोश है. कुछ दुकानदार डरे सहमे भी हैं. व्यवसायी कहते हैं कि पहले नोटबंदी, फिर जीएसटी और अब वाकिंग जोन का तमाशा. इससे साफ होता है कि सरकार झारखंड के व्यवसायियों को जीने नहीं देना चाहती है.

Sanjeevani

व्यवसायियों को परेशान करने की कोशिशः एस आलम

MDLM

सुजाता चौक स्थित लेदर वर्ल्ड के मार्केटिंग मैनेजर एस आलम का कहना है कि मेन रोड को वाकिंग जोन बनाने का फैसला साफ-साफ व्यवसायियों को परेशान करने के लिए लिया गया है. कहा कि एक तो पहले से हमारी दुकानदारी चौपट हो चुकी है. जीएसटी और नोटबंदी की दोहरी मार से अभी उबर नहीं पाये हैं और अब सरकार तीहरी मार देने को तैयार है. इतना परेशान करने से अच्छा है कि साफ-साफ दुकान बंद कर देने को कह देते.

हमें जीनें दें और परिवार चलाने देः राजू गुप्ता

मोबाइल कनेक्ट शोरूम के संचालक राजू गुप्ता ने कहा कि हमलोग तो पहले से ही बर्बाद हो चुके हैं. अब रघुवर सरकार से नम्र निवेदन है की हमलोगों को जीने दें और परिवार भी चलाने दें. एक तो जीएसटी और नोटबंदी से पहले से परेशान हैं और अब वाकिंग जोन लागू कर सरकार हमें तबाह करना चाहती है. यह हम लोगों जैसे दुकानदारों के लिए बेहद परेशानी पैदा करने वाला फैसला है.

पहले पार्किंग की व्यवस्था करे सरकारः मनीष कुमार

वुल हाउस के संचालक मनीष कुमार ने कहा कि वाकिंग जोन के फैसले से पहले सरकार पार्किंग की व्यवस्था करती तो आम लोगों के साथ-साथ दुकानदारों को भी राहत मिलती, लेकिन बिना पार्किंग का ये फैसला दुकानदारों के साथ क्रूर मजाक करने जैसा है. यह हमारे व्यापार के साथ घोर अन्याय है, जिसे बिलकुल सहा नहीं जा सकता है. जितना जल्द हो सरकार इस निर्णय को वापस ले.

बिना सोचे-समझे लिया गया फैसलाः मनोज कुमार

आनंद ज्वैलर्स के मालिक मनोज कुमार का कहना है कि वॉकिंग जोन बनाने का फैसला सरासर गलत है. सरकार बिना सोचे-समझे और किसी से राय लिये बगैर यह करने जा रही है, जिससे जिससे दुकानदारों का तो पूरा बिजनेस ही चौपट हो जायेगा.

बर्बाद हो जायेंगे दुकानों के मालिक और कर्मचारीः धनेश्वर महतो

एम बाजार के मैनेजर धनेश्वर महतो का कहना है कि सरकार ऐसा फैसला तब लेती जब फिरायालाल के आस पास कहीं मल्टी पार्किंग की व्यवस्था किये रहती, तब ऐसे फैसला का स्वागत होत. शाम 5 बजे से रात दस बजे तक पूरी तरह से दो पहिया और चार पहिया वाहनों का परिचालन बंद होने से प्रतिष्ठानों के संचालक और कर्मचारी बर्बाद होने के कगार पर आ जायेंगे. आम पब्लिक दुकान में आयेंगे ही नहीं तो फिर बिक्री कैसे होगी. इसलिए सरकार को अपना फैसला फौरन वापस लेना चाहिए.

भुखमरी के कगार पर आ जायेंगे दुकानदारः काजिल

एडेन वाच सेंटर के काजिल कहते हैं कि पहले से हमलोग नगर निगम के द्वारा संचालित नॉस्टिक कंपनी के कर्मचारी से परेशान इसलिये रहते हैं कि घड़ी बनवाने के लिये कोई भी ग्राहक जैसे ही दुकान पर वाहन लगाता है, उसे 5 मिनट के अंदर ही पार्किंग का शुल्क थमा दिया जाता है. इससे हमारे दुकान में ग्राहक की भारी कमी आई है और दूसरा अब ये नया वॉकिंग जोन अगर लागू हो जायेगा तो हमलोग भूखे रहने के कगार पर आ जायेंगे.

दुकान बंद करने के अलावा कोई चारा नहींः इम्तियाज अहमद

द फैशन के मालिक इम्तियाज अहमद कहते हैं कि हमलोगों के दुकान की इतनी हालत खराब हो चुकी है कि कहा नहीं जा सकता है. रेंट भी समय से नहीं निकल पा रहा है. शाम 5 बजे से रात 10 बजे तक अगर दो पहिया और चार पहिया वाहन अगर पूरी तरह प्रतिबंधित हो जायेंगे तो दुकान बंद करने के अलावा कोई चारा नहीं बचेगा.

जैसे चल रहा है चलने दे सरकारः मनोज गुप्ता

झारखंड विक्रेता संघ के अध्यक्ष मनोज गुप्ता ने कहा कि फिलहाल ट्रैफिक व्यवस्था जैसे चल रहा है वैसे ही चले. इसका कोई और दूसरा हल निकाला जाये, जिससे की ट्रैफिक में सुधार आये. वॉकिंग जोन के फैसले से दुकानदारों में काफी गुस्सा है. दुकानदार इसे किसी भी कीमत पर लागू नहीं होने देंगे.

तुगलकी फरमान वापस ले सरकारः प्रवीण लोहिया

वस्त्र विक्रेता संघ के अध्यक्ष प्रवीण लोहिया ने वॉकिंग जोन बनाने के फैसले को तुगलकी फरमान बताया है. कहा कि रघुवर सरकार के मनसूबे को दुकानदार किसी हालत में पूरा नहीं होने देंगे. उन्होंने कहा कि मेन रोड में पूरे राज्य से लोग आभूषण से लेकर वस्त्र तक खरीदने आते हैं. शाम 5 बजे से रात 9 बजे तक दुकानदारों का पिक टाइम होता होता है और उसी टाइम में दुकानदारी ठप करने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है. इसे किसी हाल में नहीं होने दिया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button