Uncategorized

विभिन्न विभागों में 45 हजार नियुक्ति होगी – मुख्यमंत्री

– 91 पशुचिकित्सक और 4 सहायक कारापाल को नियुक्ति पत्र बांटे गये –
रांची: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आनेवाले दिनों में राज्य सरकार विभिन्न विभागों में रिक्त 45 हजार पदों पर नियुक्ति करेगी। रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया सरकार के अस्त्तिव में आने के बाद से प्रारंभ कर दी गई है। विभिन्न विभागों में मानव संसाधन की कमी को देखते हुए सरकार चिंतित है। इस कमी को पाटने का लगातार प्रयास हो रहा है। नवनियुक्त पदाधिकारी राष्ट्र, राज्य और समाज में बदलाव के वाहक बनें। उक्त बातें मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने शुक्रवार को प्रोजेक्ट भवन नया सभागार में 91 नवनियुक्त भ्रमणशील पशुचिकित्सकों और 4 सहायक कारापालों के नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम में कही। श्री दास ने कहा कि नवनियुक्त पदाधिकारी अपने जेहन में यह बात केन्द्रित कर लें कि आप जनता के सेवक हैं। गरीब के जीवन में बदलाव लाना आपके जीवन का उदेष्य होना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि गाय चलता-फिरता उद्योग है और पशुपालन ग्रामीण जीवन रेखा। इसकी महत्ता को समझने की आवष्यकता है। नवनियुक्त पशुचिकित्सक ग्राम पंचायत की मदद से गांवों में पशुधन का आंकड़ा तैयार करें। उन्होंने कहा कि आप सभी नवनियुक्त पशु चिकित्सक युवा हैं। आपमें उमंग है, उत्साह है। इस उत्साह और उमंग को गांव के विकास में लगायें। गांव में गोबर बैंक बनाएं। इससे गोबर-गैस प्लांट चल सकेगा। इससे गांव में स्ट्रीट लाईट तो मिलेगी ही, जैविक खाद भी बनेगा। जैविक खाद का उपयोग कृषि कार्य में तो होगा ही, इसकी बिक्री से प्राप्त राशि का समुचित वितरण गोबर आपूर्ति करने वाले कृषकों के बीच होने से उनकी आमदनी भी बढेगी। हमें कृषकों को कृषि के अलावे अन्य रोजगार से लिंक करना है, जिससे उनकी आमदनी दुगुनी हो सके।
मुख्यमंत्री ने नवनियुक्त पशुचिकित्सकों एवं सहायक कारापालों को ईमानदारी एवं निष्ठा से कार्य करने का संदेश दिया एवं कहा कि गलत तरीके से कमाये पैसे से पूरी जिन्दगी शांति नहीं मिलेगी। उन्होंने एक सफल अधिकारी बनने की शुभकामनाएं दी। कहा कि वे अपने को आज सौभाग्यशाली महसूस कर रहे हैं कि वर्षों से नियुक्ति की लंबित प्रक्रिया का समाधान कर राज्य के युवाओं को नियुक्ति-पत्र सौंप रहे हैं। आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आप मेहनत की रोटी खायेंगे और झारखंड में श्वेत क्रांति, नीली क्रांति एवं हरित क्रांति का आगाज करेंगे।

(आईपीआरडी)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button