Uncategorized

रांची: स्वच्छ भारत का संदेश लिए मां की प्रतिमा का इको फ्रेंडली विसर्जन

News Wing

Ranchi, 02October: 9 दिन मां दुर्गा के पूजन के बाद बेला विदाई कि आ गई. नम आंखें और अगले वर्ष फिर से मां दुर्गा की पूजा के संकल्प लिए मां की प्रतिमा का विसर्जन शहर की नदी और तालाबों में की जा रहा है. नामकुम में प्रतिमा विसर्जन की अनूठी पहल की गई है.

अमरदीप अपार्टमेंट के लोगों की अनोखी पहल

Sanjeevani

अमरदीप अपार्टमेंट जोरार नामकुम में पिछले 8 वर्षों से दुर्गोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. भक्ति भाव और पूरे श्रद्धा के साथ मां दुर्गा का पूजन किया गया. वही परंपरा के अनुसार विजयदशमी के दिन मां की प्रतिमा का विसर्जन भी किया गया. लेकिन इस विसर्जन में कुछ खास है तो यह कि अपार्टमेंट के खुले जगह में तालाब रूपी गड्ढे का निर्माण कर आयोजकों ने मां की प्रतिमा का विसर्जन किया. यह प्रयास रांची में एकमात्र जगह देखने को मिली है.

स्वच्छ भारत मिशन को सफल बनाने की एक नई मुहिम 

एक और जहां देश के प्रधानमंत्री से लेकर राज्य के मुखिया और यहां तक कि राज्य के लोगों में भी स्वच्छता को लेकर लगातार जागरूकता की बात की जा रही है. ऐसे में अपार्टमेंट के लोगों द्वारा मूर्ति विसर्जन कि ये अनोखी परंपरा स्वच्छ भारत मिशन को सफल बनाने की एक नई मुहिम है, जो काबिले तारीफ है क्योंकि नमामि गंगे परियोजना और नदी सफाई जैसे कई योजनाओं में हजारों करोड़ रुपए खर्च होने के बावजूद भी हालत जस के तस बनी हुई है.

पूजा के बाद तालाब के समीप गंदगी का अंबार लग जाता है
बाहर हाल आस्था और विश्वास की माने तो लोग सैकड़ों वर्षो से परंपरा का निर्वहन करते हुए प्रतिमा का विसर्जन नदी और तालाबों में करते आ रहे हैं. पूजा के पूर्व तालाब की सफाई जोर-शोर से की जाती है लेकिन पूजा के बाद फिर से तालाब के समीप गंदगी का अंबार लग जाता है वैसे में पूजा समिति की यह नई पहल स्वच्छता के संदेश के साथ मां की विदाई की नई परंपरा स्वच्छ भारत मिशन में योगदान देने के काम कर रही है.

विडियो देखें: 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button