Uncategorized

रांचीः पानी की किल्लत से परेशान वार्ड 22 के लोग, पार्षद की अनदेखी ने बढ़ाई परेशानी

Ranchi: रांचीवासी पानी की किल्लत से खासे परेशान हैं. वही रमजान जैसे महीने में पानी की कमी समस्या को और बढ़ा रही है. इधर रांची नगर निगम के वार्ड 22 स्तिथ सदर गली में मुहल्लेवासियों को रोजाना पानी की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है. इलाके के लोगों का कहना है कि पार्षद के एक सहयोगी द्वारा पानी का निजीकरण किया जा रहा है. एक घर में डीप बोरिंग पम्प लगाया गया है, और पूरे दिन में बस एकबार पानी दिया जाता है. वही पार्षद को मुहल्ले के लोगों ने जानकारी भी दी, लेकिन समस्या जस की तस बनी है.

Ranchi: रांचीवासी पानी की किल्लत से खासे परेशान हैं. वही रमजान जैसे महीने में पानी की कमी समस्या को और बढ़ा रही है. इधर रांची नगर निगम के वार्ड 22 स्तिथ सदर गली में मुहल्लेवासियों को रोजाना पानी की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है. इलाके के लोगों का कहना है कि पार्षद के एक सहयोगी द्वारा पानी का निजीकरण किया जा रहा है. एक घर में डीप बोरिंग पम्प लगाया गया है, और पूरे दिन में बस एकबार पानी दिया जाता है. वही पार्षद को मुहल्ले के लोगों ने जानकारी भी दी, लेकिन समस्या जस की तस बनी है.

इसे भी पढ़ेंःराज्यकर्मियों के लिए खुशखबरी,  प्रोन्नति पर लगी रोक हटी, आदेश जारी

क्या है मामला

वार्ड 22 में पार्षद के एक सहयोगी के घर पर मोटर लगाया गया है इस वजह से लोगों को पानी नहीं दिया जा रहा है. डीप बोरिंग ट्यूबवेल को उस निजी घर में कब्जा करके रखा गया है दिन में केवल एक ही बार पानी दिया जा रहा है. पार्षद से मामले की शिकायत भी की गई लेकिन वो भी इसपर कोई कार्रवाई नहीं कर रही हैं.

वोट नहीं दिया तो पूरा पानी नहीं

वार्ड 22 की रहनेवाली साबिरन खातून का कहना है कि इसकी शिकयत जब हमने पार्षद से की तो उनका कहना था कि ऑटो छाप को तुमलोगों ने वोट नहीं दिया इस कारण पूरा पानी नहीं मिलेगा. मुहल्लेवासी मोहमद नेहाल का कहना है कि जबतक निजी घर में लगा डीप बोरिंग को हटाया नहीं जाता है तबतक ऐसा ही चलते रहेगा इसके लिए जरूरी है कि निजी घर से कनेक्शन हटा कर सावर्जनिक घर में लगाया जाए.

क्या कहा पार्षद ने

मामले की जांच करने के दौरान जब न्यूज़ विंग के रिपोर्टर ने वार्ड के 22 के पार्षद से फोन पर बात की तो उनकी जगह पूर्व पार्षद अशलम ने फ़ोन उठा या. जब उनसे इस बात की जानकारी ली गयी तो उनका कहना था कि पहले भी दो- तीन बार नल को बनाया गया है. दिन भर नल चला देने के बाद अगर खराब हो जायेगा तो क्या पब्लिक बना देगी. वही पानी की समस्या के निदान को लेकर कोई उपाय पूर्व पार्षद ने नहीं दिया.

इसे भी पढ़ेंःधनबाद में पीएमः सरकारी कर्मियों को कार्यक्रम में मौजूद रहने का फरमान, डीसी ने कहा, ‘जो लिखना है लिख दें, फर्क नहीं पड़ता,’ पीएम के दौरे के विरोध में मुखिया रखेंगे उपवास

मामले की करुंगी जांच- मेयर

वार्ड 22 के लोगों की परेशानी से जब न्यूज विंग की टीम ने मेयर को अवगत कराया तो उन्होंने कहा कि मामले की जांच करने के लिए बुधवार को वह दौरे पर जाएगी. अगर कोई व्यक्ति द्वारा पानी का निजीकरण कर उपयोग कर रहा है तो वह गलत है उसको दंडित किया जाएगा. मेयर का कहना था कि निगम का पानी आम जनता के लिए है ना कि किसी निजी व्यक्ति के लिए. वार्ड नम्बर 22  की बात करते हुए मेयर ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि इस वार्ड में 2012 में कनेक्शन लिए एक व्यक्ति द्वारा पानी का निजीकरण कर लिया गया है. मेयर का कहना है वह खुद इस मामले की जांच कर देखेगी की क्या ऐसा हो रहा है अगर है तो उस व्यक्ति को दंडित किया जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button