Uncategorized

मैं फिल्मों की तलाश में नहीं जाता : शाहरुख खान

New Delhi : सुपरस्टार शाहरुख खान का कहना कि वह फिल्मों की तलाश नहीं करते बल्कि फिल्में उनका चयन करती हैं. अभिनेता ने कहा कि फिल्म चयन का प्रत्येक कलाकार का अपना तरीका होता है लेकिन उनका मानना है कि फिल्में उनका चयन करती हैं.

मुझे लगता है कि फिल्में मेरा चयन करती हैं

अक्षय कुमार की तरह टायलेट – एक प्रेम कथाजैसी किसी अभियान से जुड़ी फिल्म करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हर किसी का फिल्में करने का अपना तरीका है, वह ऐसा क्यों करते हैं, कैसे करते हैं. मैं फिल्म को महसूस करता हूं. शाहरुख ने कहा कि मैं फिल्मों की तलाश में नहीं जाता. मैं 15 साल से निर्माता हूं, मैंने उन्हीं फिल्मों का निर्माण किया, जिनके बारे में लगा कि करनी चाहिए. मुझे लगता है कि फिल्में मेरा चयन करती हैं. अभिनेता ने गुरुवार को ऑटो एक्सपो-2018’ के दौरान मीडिया से रूबरू होते हुए यह बयान दिया. शाहरुख का मानना है कि फिल्म की कहानी में एक संदेश होने के बावजूद भी लोगों से जुड़ने के लिए उसमें मनोरंजन का पुट होना आवश्यक है.

इसे भी पढ़ें: रांची : कार्वी स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम ने निगम अधिकारियों संग की बैठक, दस्तावेजों की हुई जांच

हुंडई की गाड़ियों में होगा ‘स्वच्छ कैन’

शाहरुख खान ने कहा कि स्वच्छ कैन’ एक साधारण, लेकिन दमदार विचार है और मैं प्रत्येक वाहन स्वामी से आगे आकर इसका उपयोग कर स्वच्छ भारत आंदोलन का हिस्सा बनने की प्रार्थना करता हूं. हुंडई कारपोरेट के ब्रांड एंबेसडर शाहरुख खान ने अपने बेटे अबराम को भी स्वच्छता पर ध्यान देने और स्वच्छता आंदोलन का हिस्सा बनने के लिए कहा. गौरतलब है कि कि एक मार्च से बनने वाली हुंडई की गाड़ियों में ‘स्वच्छ कैन’ फैक्ट्री से ही फिट होकर आएंगे. ‘स्वच्छ कैन’ हुंडई की गाड़ियों में प्रयोग होने वाला एक चलित कूड़ादान है. इसका अनावरण मोदी के स्वच्छता अभियान का समर्थन करने वाले ‘हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड’ के ‘स्वच्छ कदम’ के अंतर्गत हुआ है. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button