Uncategorized

मुस्लिम महिलाओं पर हो रहे अन्याय के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का फैसलाः गिलुआ

News Wing

Ranchi, 22 August: तीन तलाक पर सुप्रीम का फैसला ऐतिहासिक एवं मुस्लिम समाज की महिलाओं के प्रति हो रहे शोषण और अन्याय के खिलाफ है. यह बयान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने कोर्ट के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कही. उन्होंने कहा कि यह फैसला किसी धर्म के खिलाफ नहीं है बल्कि सामाजिक व्यवस्था को मजबूती प्रदान करने वाला है. उन्होंने कहा कि यह फैसला महिलाओं को उनका हक और सम्मान दिलाने में कारगर साबित होगा. 

यह भी पढ़ेंः तीन तलाकः SC फैसले पर उलेमाओं का रुख सख्त (देखें वीडियो)

ram janam hospital
Catalyst IAS

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करने वालों में प्रदेश उपाध्यक्ष सांसद महेश पोद्दार, उपाध्यक्ष हेमलाल मुर्मू, उषा पांडेय, समीर उरांव, आदित्य साहू, दीपक प्रकाश, अनंत ओझा, सरिता श्रीवास्तव, गणेश मिश्र, जेबी तुबीद, राजेश कुमार शुक्ल, दीनदयाल वर्णवाल, प्रवीण प्रभाकर, हेमंत दास, प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक, सह प्रभारी संजय जयसवाल, आरती सिंह और नीरज पासवान शामिल हैं.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

यह भी पढ़ेंः SC के तीन तलाक पर आए फैसले के बाद मुस्लिम महिलाओं ने क्या कहा (देखें वीडियो)

खत्म होगा मुस्लिम महिलाओं का शोषणः आरती सिंह

भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष आरती सिंह ने तीन तलाक पर केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि तीन तलाक गैर कानूनी है. इसपर कानून बनाने की मांग मुस्लिम समुदाय की महिलाएं काफी दिन से कर रही थी. कानून बनने से मुस्लिम महिलाओं का शोषण खत्म होगा. सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करने वालों में महिला मोर्चा की महामंत्री काजल प्रधान, रेखा विजय, सोनी हेम्ब्रम, फरहाना खातून, रूपा सिंह, संध्या विश्वास, रेणु तिर्की, इलारानी पाठक, शीला हेम्ब्रम, प्रणीता शर्मा, रेखा केसरी, संध्या विश्वास और मंजू लता शामिल हैं.

यह भी पढ़ेंः तीन तलाक को खत्म करना महिलाओं की आजादी नहीं: तसलीमा नसरीन

यह भी पढ़ेंः पांच जज जिन्होंने दिया ऐतिहासिक फैसला 

यह भी पढ़ेंः तीन तलाक पर छह माह की रोक, सरकार कानून बनाएः SC

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button