Uncategorized

मुश्किल की घड़ी में पाकिस्तान के साथ खड़ा रहेगा अमेरिका : जॉन केरी

इस्लामाबाद : अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका पाकिस्तान के साथ सुरक्षा और खुफिया सहयोग बढ़ाने को लेकर बचनबद्ध है और मुश्किल की घड़ी में वह पाकिस्तान के साथ खड़ा रहेगा। डॉन के अनुसार, केरी ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सरताज अजीज के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, “जिस प्रकार मुश्किल घड़ी में हम फ्रांस के साथ खड़े हैं, उसी तरह अमेरिका पाकिस्तान के लोगों के साथ भी खड़ा रहेगा, ताकि वे एक ऐसा भविष्य निर्माण कर सकें, जो हिंसक आतंकवाद के खतरे से मुक्त हो।”

उन्होंने कहा, “तमाम आतंकवादियों तथा आतंकवादी समूहों से मुकाबले की महत्ता पर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ तथा पाकिस्तान के नेताओं के बीच आपसी सहमति का हम स्वागत करते हैं।”

advt

उन्होंने कहा, “मैं इस बात पर दोहरा रहा हूं कि सीमांत इलाकों तथा अन्य कहीं भी खतरों की समाप्ति के लिए अमेरिका पाकिस्तान के साथ सुरक्षा संबंधों को अधिक प्रगाढ़ बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।”

केरी ने कहा कि 16 दिसंबर को पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल पर तालिबानी हमला, आतंकवादियों को पनाह देने के गंभीर खतरों से आगाह करता है।

उन्होंने कहा कि तमाम आतंकवादी संगठन जैसे तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी), हक्कानी नेटवर्क तथा लश्कर-ए-तैयबा से न केवल पाकिस्तान को, बल्कि अमेरिका तथा पूरी दुनिया को खतरा है।

केरी ने कहा, “कोई भूल न होने पाए, काम कठिन है, जिसे अबतक पूरा नहीं किया गया है।”

उन्होंने कहा, “हम सब की यह जिम्मेदारी है कि हम यह सुनिश्चित करें कि आतंकवादियों के पांव इस देश या कहीं पर न पड़े।”

नवाज शरीफ के मुख्य सलाहकार अजीज ने कहा कि दोनों देश व्यापार में विस्तार को लेकर भी सहमत हैं।

अजीज ने कहा, “मैं विदेश मंत्री केरी से पाकिस्तान के लिए बाजार प्रदान करने के विभिन्न प्रस्तावों पर विचार करने का आग्रह करता हूं। पाकिस्तान, अमेरिका-पाकिस्तान संयुक्त व्यापार अवसर सम्मेलन का बेहद बेचैनी से इंतजार कर रहा है, जो मार्च 2015 में प्रस्तावित है। (आईएएनएस)

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: