Uncategorized

मारपीट का मामला : पीड़ित पक्ष का आरोप-पुलिस नहीं कर रही है कार्रवाई

Ranchi : हिन्दपीढ़ी थाना में इंडिगो एयरलाइंस रांची के सिनियर एजक्यूटिव सिक्यूरिटी मोहित कुमार ने दो लोगों के खिलाफ मारपीट और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कराया है. मोहित के पिता ने उमाशंकर सिंह ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस का रवैया ठीक नही है. पहले तो पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने में आनाकानी कर रही थी, पुलिस कार्रवाई के बदले मामला उठाने का दबाब दे रही थी. आरोपियों का पक्ष लेकर पुलिस कार्रवाई नही करना चाहती है. मोहित कुमार एचईसी कॉलोनी के रहने वाले है. इस मामले को लेकर जब हिदपीढ़ी थाना प्रभारी से बातचीत की गयी तो उन्होंने बताया कि मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. मामले की जांच की जा रही है. 

इसे भी देखें- युवती की बेरहमी से हत्या : रहस्य में उलझी हत्या की गुत्थी

क्या है मामला ?

कुछ दिन पूर्व नशे की हालत में दो लोग एयरपोर्ट पर हंगामा कर रहे थे. नशे की हालत में टर्मिनल के मैनेजर मनोज सिंन्हा, इंडिगो के मैनेजर अभय पाण्डेय एवं मो रिजवान कादिर के साथ गाली गलौज करने लगे, कर्मी के साथ धक्का मुक्की और जान से मारने की धमकी भी दी. इस कारण से दोनों को फ्लाईट चढ़ने से रोक दिया गया. 14 फरवरी की रात होटल कैपिटल हिल में आयोजित एक कार्यक्रम मोहित शामिल था. तभी दो लोग जो एयरपोर्ट की में घटना में शामिल थे, उनके साथ अन्य चार पांच अज्ञात लोग मोहित को पकड़कर होटल के पार्किंग तक जबरदस्ती ले गए और गाड़ी नo. JH01BE-3242 में बैठाकर उनके साथ मारपीट की. यह गाड़ी रॉची के एवीएन ग्रांड होटल के गेट पास भी कुछ देर के लिए रुकी.  उसके बाद शहर के विभिन्न सड़कों पर दौड़ाते रहे और गाली-गलौज करते हुए मार-पीट की गई. आरोपों के मुताबिक मोहित को मारपीट के बाद जिन्दा जलाने का भी प्रयास किया गया. वहीं छेड़खानी के झूठे आरोप में फंसाने की भी धमकी दी. मोहित ने जब इसकी सूचना परिजनों को दी, तब परिजनों ने 100 नंबर पर डायल कर पुलिस को इसकी सूचना दी.

इसे भी देखें- रामगढ़ : गौ रक्षा व बीफ के नाम पर अलीमुद्दीन हत्याकांड के आरोपियों में 11 को आजीवन कारावास

आरोपी पर डोरंडा थाना में भी मामला दर्ज

एयरपोर्ट पर हंगामा करने और कर्मियों के साथ धक्का मुक्की को लेकर इंडिगो एयरलाइन्स के उप प्रबंधक अभय कुमार पाण्डेय ने डोरण्डा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराया है. दर्ज प्राथमिकी में अंकित काबरा और शिवेन्द्र शिवम को आरोपी बनाया गया, जिसमें बताया गया कि दोनो मुंबई की यात्रा करना चाहते थे. दोनो ऩशे की हालत में थे जिसकारण खड़े भी नही हो पा रहे थे. बहरहाल पुलिस ने कार्रवाई में लेटलतीफी और लापरवाही के आरोपों से पल्ला झाड़ते हुए जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है. यानि पीड़ित को इंसाफ मिल पाएगा या नहीं, पुलिसकर्मियों को इससे इत्तेफाक नहीं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button