Uncategorized

महाभियोग को हथियार बनाकर जजों को डराने की कोशिश कर रहा है विपक्ष : जेटली

NewDelhi :  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने चीफ जस्टिस महाभियोग मामले में विपक्ष खास कर कांग्रेस पर करारा हमला किया है. जेटली ने आरोप लगाया है कि विपक्ष महाभियोग को हथियार बनाकर जजों को डराने की कोशिश कर रहा है. इसके लिए श्री जेटली ने फेसबुक का सहारा लिया है. उऩ्होंने एक पोस्ट लिखकर जजों के महाभियोग को बदले की याचिका बताया और कहा कि इस पूरे मामले को हल्के में लेना खतरनाक हो सकता है.  कहा कि यह प्रकरण पूरी न्यायपालिका की आजादी के लिए खतरा है. बता दें कि जेटली ने अपनी पोस्ट में जज लोया की मौत को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बार में भी लिखा है. जेटली के अनुसार उन्होंने 114 पेज के  फैसले को पढ़ा,  जिसे जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने लिखा है. इस क्रम में वित्त मंत्री ने सोहराबुद्दीन एनकाउंटर से लेकर अमित शाह और जज लोया की मौत का विस्तार से जानकारी दी है.

इसे भी पढ़ें – आशा लकड़ा के सिर पर फिर सजा मेयर का ताज, 39,616 मतों से जेएमएम की वर्षा गाड़ी को दी शिकस्त

भाजपा अध्यक्ष की छवि को धूमिल करने के लिए उठाया गया मामला

पोस्ट में जेटली ने जज लोया की मौत के संबंध में कारवां मैगजीन में छपे लेख को फेक न्यूज कहा. उन्होंने कहा कि यह पूरा मामला इस सरकार और भाजपा अध्यक्ष की छवि को धूमिल करने के लिए उठाया गया.  उन्होंने चीफ जस्टिस के महाभियोग को गंभीर मामला बताते हुए कहा कि सभी राजनीतिक दलों को इसकी गंभीरता समझनी चाहिए.  अरुण जेटली ने चार जजों की प्रेस कॉन्फ्रेस के मुद्दे का जिक्र करते हुए सवाल उठाया कि चारों विद्वान जजों ने जज लोया के मामले के तथ्यों की पूरी पड़ताल की थी.  उन्होंने केवल सुनवाई के लिए लिस्टिंग को मुद्दा बनाया. उन्होंने चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग को लेकर विपक्षी दलों की भूमिका पर सवाल उठाते हुए लिखा कि राजनीतिक लड़ाईयों में न्यायपालिका को मोहरा बनाना उचित नहीं है.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button