Uncategorized

भारत में शरण नहीं मिलने पर पाकिस्तान लौटे 500 हिंदुओं को जबरन बना दिया मुसलमान

New Delhi : भारत में लॉन्ग टर्म वीजा ना मिलने के कारण 25 मार्च को पाकिस्तान लौटे 500 हिंदुओं को जबरन इस्लाम कबूल कराया गया. धर्म परिवर्तन कराए गए लोगों में से अधिकतर वो लोग थे, जो भारत में शरण लेने आए थे, लेकिन लॉन्ग टर्म वीजा ना मिलने के कारण उन्हें पाकिस्तान लौटना पड़ा था. मिली सूचना के अनुसार जबरन धर्म परिवर्तन का यह कार्यक्रम पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और सेना प्रमुख जनरल परवेज मुशर्रफ की पार्टी ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग के पदाधिकारियों द्वारा आयोजित किया गया था. ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग के पदाधिकारियों ने पहले हिंदुओं के 50 परिवारों पर दबाव बनाया और उसके बाद उन्हें जबरन इस्लाम कबूल कराया.

इसे भी पढ़ें : कर्नाटक विधानसभा चुनाव : आयोग से पहले सिर्फ बीजेपी ही नहीं बल्कि कांग्रेस के IT इंचार्ज श्रीवत्स ने भी किया तारीखों का एलान, कांग्रेस ने उठाया सवाल तो ट्विटर पर बना मजाक

पिछले सप्ताह ही जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में सिंध प्रांत में अल्पसंख्यक हिंदुओं की स्थिति पर चिंता जतायी गयी थी

Catalyst IAS
SIP abacus

पिछले सप्ताह जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में पाकिस्तान के सिंध प्रांत में अल्पसंख्यक हिंदुओं की स्थिति, उनपर हो रहे अत्याचार और धर्म परिवर्तन पर चिंता जतायी गयी थी और उसके ठीक बाद पाकिस्तान में 500 हिंदुओं का धर्म परिवर्तन कराकर जबरन मुस्लिम बनाया जाता है. जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की इस सत्र का संचालन मुस्लिम कनेडियन कांग्रेस के फाउंडर और लेखर तारिक फतह ने किया था. वहीं सत्र में मुख्य वक्ता के तौर पर वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस की चेयरपर्सन रुबिना शेख ने सिंध प्रांत में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार, धर्म परिवर्तन के बारे में विस्तार से जानकारी दी थी.

MDLM
Sanjeevani

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button