Uncategorized

भारत ने अग्नि-4 मिसाइल का सफल परीक्षण किया

भुवनेश्वर: भारत ने सोमवार को परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम अग्नि-4 बैलिस्टिक मिसाइल का ओडिशा तट के अब्दुल कलाम द्वीप से सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण अंतर महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 के सफलतापूर्वक परीक्षण के एक हफ्ते के भीतर किया गया है।

रक्षा सूत्रों के अनुसार, मिसाइल का परीक्षण पूर्वाह्न् करीब 11.50 बजे अब्दुल कलाम द्वीप के बालासोर तट से मोबाइल लांचर से किया गया।

प्रक्षेपण का संचालन भारत के परमाणु कमान प्राधिकरण (एनसीए) के सामरिक बल कमान ने किया। यह देश के सामरिक और रणनीतिक परमाणु हथियार भंडार के प्रबंधन और प्रशासन के लिए जिम्मेदार है।

ram janam hospital
Catalyst IAS

यह मिसाइल का छठा परीक्षण है। इससे पहले मिसाइल का परीक्षण 2011, 2012 और 2014 में दो बार किया गया था। इसका आखिरी परीक्षण नवंबर 2015 में किया गया।

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बनाया और विकसित किया है। डीआरडीओ ने कहा कि सभी परीक्षण सफल रहे हैं।

ठोस ईंधन से चलने वाला दो चरण की सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल एक टन पेलोड को 4,000 किलोमीटर की दूरी तक ले जाने में सक्षम है।

मिसाइल की लंबाई 20 मीटर और वजन 17 टन है। यह अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से सुसज्जित है। इसमें स्वदेश निर्मित रिंग लेजर जाइरो और कंपोजिट रॉकेट मोटर प्रणाली लगी है।

अग्नि-4 अत्याधुनिक एविनोक्सि से सुसज्जित है। इसमें पांचवीं पीढ़ी का ऑन बोर्ड कं प्यूटर एवं वितरण आर्किटेक्चर है। इसमें इनफ्लाइट अवरोधों को खुद सही करने की सुविधा भी मौजूद है।

इसमें ज्यादा सटीक निशाना लगाने के लिए रिंग लेसर गाइरो बेस्ड इनर्सियल नेविगेशन सिस्टम (आरआईएनएस) और माइक्रो नेविगेशन सिस्टम (एमआईएनजीएस) है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button