Uncategorized

भाजपा का झगड़ा और जोर पकड़ा, अब अडवाणी-सुषमा नाराज

मुंबई: बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी भी पार्टी नेताओं के बीच का मनमुटाव खत्म नहीं कर पाई। संजय जोशी के इस्तीफे के बाद नरेंद्र मोदी मान गए, तो अब बताया जा रहा है कि हाल के दिनों में पार्टी के लिए फैसले और कार्यप्रणाली से शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी नाराज हो गए हैं। सूत्रों का कहना है कि इसी वजह से वह पेट्रोल की कीमत बढ़ाए जाने के खिलाफ आज होने वाली रैली में हिस्सा नहीं लिया। सुषमा स्वराज भी इस रैली में शामिल नहीं हुई। हालांकि, पार्टी की ओर से कहा गया है दोनों नेताओं के पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों की वजह से ऐसा हो रहा है।

सूत्रों का कहना है कि पार्टी में हाल के दिनों में संघ का दखल बढ़ा है और उन्हें दरकिनार करके कई बड़े फैसले लिए गए हैं। इस वजह से वह आहत हैं। सूत्रों का कहना है कि आडवाणी, येदयुरप्पा की बयानबाजी और नितिन गडकरी को दोबारा अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर भी खुश नहीं है। सूत्रों के मुताबिक आडवाणी के रैली में शिरकत न करने की संभावना से तो कई वरिष्ठ नेता अवगत थे, लेकिन सुषमा स्वराज का फैसला ज्यादातर लोगों के लिए चौंकाने वाला था।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी आज पहुंचे येदयुरप्पा पिछले कुछ दिनों से लगातर मोदी को 2014 में पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा वह कर्नाटक की राजनीति में अपने प्रतिद्वंद्वी अनंत कुमार के बहाने लगातार आडवाणी पर हमला बोल रहे हैं। आडवाणी इन्हीं वजहों से नाराज बताए जा रहे हैं। वहीं, गडकरी को दोबारा अध्यक्ष बनाए जाने के लिए प्रस्ताव पारित करना भी आडवाणी की नाराजगी की वजह बताया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button