Uncategorized

ब्रिटेन के रक्षा मंत्री ने यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद इस्तीफा दिया

News Wing
London, 02 November : ब्रिटेन के रक्षा मंत्री माइकल फालन ने अनुचित यौन बर्ताव के आरोपों को लेकर आज इस्तीफा दे दिया. उनके इस कदम से प्रधानमंत्री टेरीजा मे कैबिनेट में फेरबदल करने की स्थिति का सामना करने को मजबूर हो गई हैं.

फालन (65) ने ब्रिटेन के रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा देते हुए कहा है कि उनका व्यवहार उम्मीद किये जाने वाले उच्च मानदंड से निम्नतर रहा होगा. दरअसल, उनके बारे में यह खुलासा हुआ कि उन्होंने बरसों पहले एक पत्रकार के साथ अवांछित हरकत की थी.

उन्होंने मे को लिखे अपने पत्र में कहा है, ‘‘ मेरे पिछले बर्ताव सहित सांसदों के बारे में हाल के दिनों में कई सारे आरोप सामने आए हैं. इनमें से ज्यादातर झूठे हैं लेकिन मैं स्वीकार करता हूं कि अतीत में सशस्त्र बलों के लिए जरूरी उस उच्च मानदंड से मैं नीचे रहा, जिसका मुझे प्रदर्शन करना था. ’’ बहरहाल, यह अस्पष्ट है कि क्या यह एक खास खुलासा है कि फालन का हाथ बार – बार पत्रकार जूलिया हर्टले – ब्रीवर के घुटने पर जा रहा था. जिस गतिविधि के चलते उन्होंने इस्तीफा देने का फैसला किया या, अधिकारों के दुरूपयोग की अन्य घटनाएं हैं जिनकी वजह से उनकी विदाई हुई.

Catalyst IAS
ram janam hospital

परेशान या हताश नहीं
जूलिया ने जोर देते हुए कहा है कि वह खुद को पीड़िता के तौर पर नहीं देखती और इस घटना ने कहीं से किसी को परेशान या हताश नहीं किया.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

उन्होंने कहा, ‘‘यदि यह ‘नी गेट’ (घुटना कांड) को लेकर है, फिर15 साल पहले उनके द्वारा मेरा घुटना छूना और आज मुझे इससे कोई परेशानी नहीं है, तो यह एक कैबिनेट मंत्री का सबसे बेतुका इस्तीफा है. जैसा कभी नहीं हुआ. ’’ गौरतलब है कि फालन को कंजरवेटिव पार्टी का कद्दावर नेता माना जाता है और यहां तक कि उन्हें भविष्य के प्रधानमंत्री के तौर पर देखा जाता है. वह ब्रिटेन के सत्ता के गलियारों में यौन दुर्व्यवहार कांड के पहले शिकार बने हैं.

ऐसे में, कैबिनेट में व्यापक फेरबदल के बगैर मे द्वारा एक नया रक्षा मंत्री नियुक्त करने की उम्मीद है. वहीं, उनके एक अन्य वरिष्ठ मंत्री डेमियन ग्रीन भी आरोपों का सामना कर रहे हैं. दरअसल, कंजरवेटिव पार्टी की कार्यकर्ता केट माल्टबी ने खुलासा किया है कि डेमियन ने उन्हें अनुचित यौन पेशकश की. हालांकि, इस मामले की जांच टेरीजा के आदेशों पर चर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button