Uncategorized

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

NewDelhi:  भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा एकबार फिर अपनी पार्टी पर बरसते नजर आये. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने बीजेपी पर जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी-पीडीपी गठबंधन का टूटना तो पहले से ही तय था. अपनी ही पार्टी पर गंभीर आरोप लगाते हुए वरिष्ठ नेता ने कहा कि पीडीपी से गठबंधन तोड़ने के मसले को भाजपा चुनाव में भुनायेगी. इस मुद्दे को पार्टी सांप्रदायिकता फैलाने में और वोटों के धुव्रीकरण में इस्तेमाल करेगी.

इसे भी पढ़ेंः स्मार्ट बिजली मीटर खरीद में 18.5 करोड़ के घोटाले की साजिश, यूपी-बिहार से महंगे रेट पर होगी झारखंड में मीटर की सप्लाई

‘भाजपा सांप्रदायिकता को देगी हवा’

Sanjeevani

पार्टी के खिलाफ बगावती सुर रखने वाले बीजेपी के असंतुष्ट नेता ने कहा कि बीजेपी 2019 के आम चुनावों के साथ ही दूसरे विधानसभा चुनावों में भी इसको पुरजोर तरीके से उठाएगी. यशवंत सिन्हा ने कहा, ‘इसमें कोई संदेह नहीं कि बीजेपी को जम्मू-कश्मीर के मसले पर सांप्रदायिकता और ध्रुवीकरण को हवा देने में मदद मिलेगी.’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन का टूटना तय था. यशवंत सिन्हा ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि गठबंधन बनने के साथ ही दोनों सहयोगी दल विपरीत दिशा में चलने लगे थे. दोनों पार्टियां अपनी नीतियों का अनुसरण कर रही थी, और इन सबके बीच राज्य के शासन-प्रशासन को नुकसान हुआ.

जम्मू-कश्मीर में हो चुनाव

जम्मू-कश्मीर में फिलहाल राज्यपाल शासन है. लेकिन यशवंत सिन्हा इसके पक्षधर नहीं हैं. उन्होंने जम्मू-कश्मीर विधानसभा को भंग कर चुनाव कराने की वकालत की है. उन्होंने कहा, ‘सभी दलों ने स्पष्ट तौर पर कहा कि वे सरकार नहीं बनाना चाहते हैं. ऐसे में जब मौजूदा विधानसभा सरकार देने में नाकाम है तो उसे भंग कर नए सिरे से चुनाव कराना जरूरी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button